लखनऊ बलिया के बाद बनेगा आगरा चित्रकूट एक्सपे्रस-वे: योगी

मुख्यमंत्री ने औद्योगिक विकास सम्मेलन में की घोषणा
यूपी में शुद्ध प्लस 200 करोड़ रुपये का उद्योग करेगा स्थापित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पूर्वी उत्तर प्रदेश में लखनऊ से बलिया तक एक्सप्रेस-वे के बाद आगरा, झांसी, चित्रकूट एक्सप्रेस-वे बनाया जायेगा। इसके किनारे औद्योगिक क्षेत्र स्थापित कर उद्योगों के लिए भूमि की कमी दूर की जायेगी। इससे लगभग 20 हजार एकड़ का लैन्ड बैंक बन सकेगा। यह बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चैम्बर ऑफ इंडस्ट्रीज गोरखपुर द्वारा आयोजित औद्योगिक विकास सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि 300 करोड़ रुपये की लागत से गोरखपुर में अंकुर उद्योग द्वारा एक उद्योग स्थापित करने के लिए मेमोरैन्डम ऑफ अण्डरस्टैन्डिंग (एमओयू ) प्रदेश सरकार के साथ हस्ताक्षर हुआ है। वहीं आने वाले दिनों में शुद्ध प्लस द्वारा 200 करोड़ रुपये का एक उद्योग स्थापित किया जायेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की नई औद्योगिक नीति पर लगभग दर्जन भर देशों के राजदूत अपने देश के प्रतिनिधि मंडल के साथ उनसे मिले हैं तथा उद्योग स्थापना के लिए सहमत हुए हैं। सूरत में भी औद्योगिक सम्मेलन में वहां के उद्यमियों ने कहा कि वे यूपी में उद्योग की स्थापना करना चाहते हैं। उत्तर प्रदेश में सकारात्मक सोच से एक वातावरण बन रहा है। सभी अधिकारियों एवं उद्यमियों को इसका लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रमुख नगरों को हवाई यात्रा से जोड़ा जा रहा है ताकि कम समय में लोग वहां पहुंच कर अपना कार्य कर सकें। अगले 6 माह में 4 महानगरों में मेट्रो का काम शुरू कर दिया जायेगा, जिससे लोगों को आवागमन की सुविधा मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि एक वर्ष में 5.60 लाख आवास बनाकर गरीब लोगों को उपलब्ध कराना है। भवन निर्माण के क्षेत्र में कार्य करने वाले इसमें अपनी रुचि दिखा सकते हैं।
मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश के चार शहरों में वायो डीजल संयंत्र की स्थापना की योजना है। इसी प्रकार फू ड प्रोसेसिंग पार्क स्थापित किया जाना है। एक जिला एक उत्पाद को लेकर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक सेन्टर बनाया जा रहा है, जिससे इन्हें बढ़ावा मिलेगा तथा देश विदेश में इसका उत्पाद एक्सपोर्ट किया जा सके। इसके लिए परम्परागत उद्योगों को पुनर्जीवित किया जायेगा तथा तकनीक से जोडक़र उन्हें नया स्वरूप दिया जायेगा। सम्मेलन को प्रदेश के प्रमुख सचिव आवास व वस्त्र उद्योग मुकुल सिंघल, प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास आलोक सिन्हा ने सम्बोधित किया तथा आश्वस्त किया कि उद्यमियों को सुविधा उपलब्ध कराने के लिए शासन गंभीरता से विचार कर रहा है। सम्मेलन में पूर्व अध्यक्ष एसके अग्रवाल ने गोरखपुर में उद्यमियों एवं गीडा की समस्याओं को सिलसिलेवार प्रस्तुत किया। गीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी हर्षिता माथुर ने गीडा के उपलब्धियों की जानकारी दी।

 

Pin It