अवैध निर्माण पर सचिव ने मांगा स्पष्टीकरण तो छुट्टी लेकर घर बैठ गया अधिशासी अभियंता

सचिव के निर्देश पर किए गए निरीक्षण में सामने आया था अवैध निर्माण कराए जाने का मामला
आईजीआरएस व अन्य माध्यमों से अभियंता के खिलाफ मिलती रही हैं गंभीर शिकायतें

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण के अफसरों को अभियंता चकमा देने में लगातार कामयाब हो रहे हैं। अफसर अवैध निर्माण पर शिकंजा कसने का भरसक प्रयास कर रहे हैं, लेकिन अवैध निर्माण में संलिप्त अभियंता अवैध निर्माण को बढ़ावा देने के लिए रोज नये-नये पैंतरे अपना रहे हैं। इन अभियंताओं पर शासन और एलडीए वीसी के निर्देशों का कोई असर होता नहीं दिख रहा है। ताजा मामला लाटूस रोड पर धड़ल्ले से हो रहे अवैध निर्माण का है, जिसके बारे में क्षेत्रीय लोगों ने आईजीआरएस में लिखित शिकायत की है कि यह निर्माण अधिशासी अभियंता अरुण कुमार के इशारे पर किया जा रहा है। इसको गंभीरता से लेकर जांच की गई तो मामला सही पाया गया, लेकिन जब अवैध निर्माण के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया तो अभियंता छुट्टी लेकर घर बैठ गया। इतना ही नहीं उसने बचाव में अपनी पहुंच का इस्तेमाल करना भी शुरू कर दिया है।
लखनऊ विकास प्राधिकण के अफसरों के मुताबिक अवैध निर्माण में सलिप्त पाए जाने पर अधिशासी अभियंता अरुण कुमार से स्पष्टीकरण मांगा गया तो वे लम्बी छुट्टी लेकर घर बैठ गये। इसलिए अब अफसर अभियंता के छुट्टी से लौटने का इंतजार कर रहे हैं। दरअसल एलडीए में लम्बे समय से अवैध निर्माण की शिकायतों में अधिशासी अभियंता अरुण कुमार का नाम काफी चर्चित रहा है। आईजीआरएस समेत तमाम माध्यमों से इस अभियंता की कई शिकायतें अफसरों को मिलती रही हैं। कई बार लोगोंं ने अपनी शिकायतों में सीधे-सीधे अरुण कुमार सिंह पर अवैध निर्माण में संलिप्त होने का आरोप लगाया है। इन्हीं शिकायतों के आधार पर एलडीए सचिव जयशंकर दुबे ने संयुक्त सचिव महेन्द्र कुमार मिश्र को लाटूस रोड पर किए जा रहे अवैध निर्माण के निरीक्षण का निर्देश दिया था। निरीक्षण में अवैध निर्माण की पुष्टि होने पर सचिव ने अधिशासी अभियंता अरुण कुमार से स्पष्टीकरण मांगा था, लेकिन अभिंयता ने स्पष्टीकरण नहीं दिया। जब अफसरों ने अभियंता को दोबारा स्पष्टीकरण देने के लिए कहा तो वह छुट्टी पर चला गया। सूत्रों के अनुसार अवैध निर्माण में संलिप्त इस अभियंता के क्षेत्र में दर्जनों अवैध निर्माण किए जा रहें हैं, लेकिन जब अफसरों को इस अभिंयता के अवैध निर्माण में संलिप्त होने की जानकारी मिली तो उसने छुट्टी ले ली। मामले के संबंध में अभियंता अरुण कुमार से फोन के माध्यम से संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका।

अवैध निर्माण के संबंध में अधिशासी अभियंता से स्पष्टीकरण मांगा गया है, लेकिन अभियंता लम्बे समय से छुट्टी पर हैं। इसलिए जवाब न मिलने की दशा में नियमानुसार शासन में कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा।
जयशंकर दुबे,सचिव,एलडीए

विरासत छोडऩे वालों की पहचान हो जाती है खत्म: मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोई भी देश विकास के लिए कितना भी प्रयत्न करे लेकिन अपने इतिहास को कभी नहीं भूलना चाहिए। विरासत को छोड़ कर आगे बढऩे वालों की पहचान खत्म हो जाती है। पहले हमारा देश काफी समृद्ध था। हमारे पास जो श्रेष्ठ था उसको ध्वस्त करने में बाहरी लोग जुट गए थे। जब हमें गुलामी से मुक्ति मिली तो उसके बाद हम अपने इतिहास को संरक्षित नहीं कर पाए। पिछले 3 साल में हमारी सरकार ने पुरानी विरासत को संजोने का काम कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में देश के पहले अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान को राष्ट्र को समर्पित करते हुए कहा कि आयुर्वेद सिर्फ एक चिकित्सा पद्धति नहीं है, इसके दायरे में सामाजिक और सांस्कृतिक स्वास्थ्य भी आते हैं। देश के हर जिले में आयुर्वेद से जुड़ा अस्पताल हो, इस दिशा में सरकार काम कर रही है। गौरतलब है कि आयुर्वेदिक संस्थान एआईआईए की स्थापना 10 एकड़ क्षेत्र में की गई है और इस पर 157 करोड़ रुपये की लागत आई है। देश के इस पहले अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान की स्थापना आयुष मंत्रालय के तहत की गई है। यह संस्थान आयुर्वेद और इलाज के लिए अपनाए जा रहे आधुनिक तकनीक के बीच तालमेल बिठाने का काम करेगा।

पनामा पेपर्स को लीक करने वाली पत्रकार की ब्लास्ट में मौत

वलेत्ता। माल्टा के विदेशी कर पनाहगाह के बारे में खुलासा करने वाली खोजी पत्रकार डेफ्ने कारूआना गालिजिआ की उनकी कार में बम विस्फोट होने से मौत हो गई। उन्होंने लीक हुए पनामा पेपर्स के जरिए कर चोरी के लिए दूसरे देशों में पनाहगाहों से द्वीपीय देश के संबंधों का खुलासा किया था। 53 वर्षीय डेफ्ने कारूआना गालिजिआ माल्टा के मुख्य द्वीप में स्थित बड़े शहर मोस्टा में अपने घर से निकली ही थीं कि बम विस्फोट हो गया जिससे उनकी कार के परखच्चे उड़ गए। कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने आज माल्टा के अखबारों को बताया कि डेफ्ने ने दो सप्ताह पहले पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उन्हें धमकियां मिल रही हैं।

पीएमओ के कमरा नंबर 242 में लगी आग

नई दिल्ली। बेहद सुरक्षित माने जाने वाले प्रधानमंत्री कार्यालय में बीती रात आग लग गई। आग पीएमओ की दूसरी मंजिल पर मौजूद कमरा नंबर 242 में लगी। फायर अधिकारी के मुताबिक आग करीब 3:35 बजे लगी थी। आग की शुरुआत कमरे में लगे एसी में हुई स्पार्किंग से हुई थी। उसके बाद कमरे में धुआं भर गया। पीएमओ की दूसरी मंजिल पर आग लगने की जानकारी एसपीजी के इंस्पेक्टर ने दिल्ली फायर सर्विस को दी। करीब एक घंटे के बाद दिल्ली फायर सर्विस की टीम ने आग पर काबू पाया। हालांकि इस आग में पीएमओ के किसी आधिकारिक दस्तावेजों में आग लगी है या नहीं ये जांच के बाद पता चलेगा। जानकारी के मुताबिक दमकल की 10 गाडिय़ों ने करीब एक घंटे में आग काबू पा लिया। आग से हुए नुकसान का अभी तक अंदाजा नहीं लग पाया है।

सीएचसी में चिकित्सकों को नदारद देख भडक़े सीएमओ

लखनऊ । सीएमओ जीएस बाजपेई की सख्ती के बावजूद चिकित्सक सुधरने का नाम नहीं ले रहे हंै। सीएमओ ने व्यवस्था सुधारने के तहत आज राजेन्द्र नगर और नाका हिंडोला सीएचसी का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान डॉक्टर गायब मिले। नदारद चिकित्सकों के खिलाफ सीएमओ ने एक दिन का वेतन काटने का निर्देश जारी किया गया है। सीएमओ ने आज सुबह आठ बजे राजेन्द्रनगर अस्पताल का निरीक्षण किया। यहां लैब टैक्निशियन को छोडक़र कोई ड्यूटी पर नहीं मिला। अस्पताल में मौजूद मरीजों ने बताया कि आए दिन डॉक्टर गायब रहते हैं। सीएमओ ने भविष्य में ड्यूटी से गायब होने वाले डॉक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। सीएमओ ने राजेन्द्र नगर के बाद नाका हिंडोला सीएचसी का निरीक्षण किया। यहां भी सीएमओ को चिकित्सक नदारद मिले। सीएमओ ने यहां भी चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी है।

इस बार त्रेतायुग की तरह अयोध्या की दीपावली को यादगार बनाने की तैयारी

पुष्पक विमान की तरह सजाया जायेगा हेलीकॉप्टर
अयोध्या में शासन स्तर के अधिकारियों का जमावड़ा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अयोध्या में इस बार की दीपावली को खास बनाने की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। यहां त्रेता युग की तरह अयोध्या की दीपावली को यादगार बनाने के लिए सूबे के शासन स्तर के दर्जनों अधिकारी अयोध्या पहुंच गये हैं। यहां छोटी दीपावली पर प्रतीकात्मक रूप से भगवान राम का राज्याभिषेक भी किया जायेगा।
पर्यटन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक पुष्पक विमान की याद को ताजा करने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया जाएगा। फैजाबाद हवाई पट्टी से राम-लक्ष्मण और सीता को लेकर हेलीकॉप्टर सीधे अयोध्या के रामकथा पार्क पहुंचेगा, जहां भरत की जगह योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल राम नाईक उनकी अगवानी करेंगे। इसीलिए कल शाम 4 बजे जैसे ही योगी आदित्यनाथ फैजाबाद हवाई पट्टी पर उतरने के बाद सडक़ मार्ग से अयोध्या के रामकथा पार्क पहुंचेंगे। वैसे ही साकेत से निकली शोभा यात्रा की रामलीला झाकियां भी पहुंचेंगी।

एक लाख 71 हजार दीप जलाने की प्लानिंग: अवनीश अवस्थी

प्रमुख सचिव पर्यटन एवं धर्मार्थ विभाग अवनीश अवस्थी ने बताया कि छोटी दीपावली पर प्रतीकात्मक रूप से भगवान राम का राज्याभिषेक होगा। राम की पैड़ी पर 1 लाख 71 हजार दीप भी जलाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम के दौरान नाटक मंचन और धार्मिक गीत-संगीत का आयोजन भी किया जाएगा। इसके अलावा शोभा यात्रा के दौरान 10 अलग-अलग रथ को सजाया जाएगा। इस भव्य शोभा यात्रा में श्रीराम की पूरी सेना का दृश्य भी दर्शाया जाएगा। साथ ही मुख्य आकर्षण का केंद्र एक रथ में सवार राम, सीता और लक्ष्मण का रथ होगा। इसके लिए सआदतगंज इलाके (अयोध्या और फैजाबाद को जोड़ता है) में एक भव्य द्वार बनाया जा रहा है, जिसको 201 क्विंटल फूल और लाइट से सजाया जाएगा। इतना ही नहीं राम कथा पार्क पर थाईलैंड और इंडोनेशिया के कलाकार रामलीला का मंचन कर अपनी प्रस्तुति भी देंगे। यह प्रस्तुति 35-35 मिनट की होगी। सरयू घाट पर इस मंचन का सीधा प्रसारण एलईडी द्वारा किया जाएगा। साथ ही पूरे अयोध्या के 3 बड़े चौराहे, 7 तिराहों पर लगभग 20-25 छोटी-छोटी एलईडी भी लगाई जाएंगी, जहां आम जनता इसको देखने का आनंद उठा सकेगी। इस दौरान सीएम योगी और राज्यपाल राम नाईक 108 कन्याओं को भोजन भी कराएंगे। पहली बार सरकारी खर्च पर 7 किलोमीटर में बसी अयोध्या की हर सडक़ और गली मोहल्ले को लाइटिंग से सजाया जाएगा।

 

Pin It