राजधानी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में नदारद मिले डॉक्टर, कटेगा वेतन

सीएमओ के औचक निरीक्षण से खुली पोल, मचा हडक़ंप
रामनगर पीएचसी में सफाई कर्मी मौजूद, मरीज परेशान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में स्वास्थ्य सेवाएं सुधरने का नाम नहीं ले रही हैं। हाल यह है कि कई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर डॉक्टर और स्टाफ नदारद रहते हैं। ताजा मामला राजधानी में संचालित चार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का है। आज सुबह जब सीएमओ डॉक्टर जीएस बाजपेई राजाजीपुरम, रामनगर, सज्जादबाग और सेवासदन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद का निरीक्षण करने पहुंचे तो वहां चिकित्सक नदारद मिले। सीएमओ ने गैरहाजिर चिकित्सकों के एक दिन का वेतन काटने का आदेश दिया है। वहीं चिकित्सकों के नदारद रहने से मरीज परेशान नजर आए।
सीएमओ आज सुबह रामनगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। यहां पर डॉक्टर और अन्य स्टाफ गायब थे। केवल एक सफाई कर्मचारी मौजूद था। राजाजीपुरम पीएचसी में ताला लटकता मिला। सेवासदन में भी ऐसा ही नजारा देखने को मिला। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सज्जादबाग में केवल दो स्टाफ उपस्थित मिले। यहीं नहीं कर्मचारी अपनी ड्रेस में नहीं मिले। गौरतलब है कि इसके पहले भी निरीक्षण के दौरान कई पीएचसी में डॉक्टर और स्टाफ नदारद मिल चुके हैं। यह स्थिति तब है जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त करने के कड़े निर्देश दिए हैं। जब राजधानी में चिकित्सा सेवाओं का यह हाल है तो अन्य जिलों की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है। जाहिर है यदि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर ऐसा स्थिति देखने को मिलेगी तो गरीब मरीज आखिरकार कहां जाएंगे? मुख्य चिकित्साधिकारी जी.एस बाजपेई के मुताबिक आज जहां-जहां डॉक्टर और स्टाफ उपस्थित नहीं मिले है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। गैरहाजिर चिकित्सकों के एक दिन का वेतन काटने का आदेश दिया गया है। साथ ही सभी को नोटिस भेज कर जवाब तलब किया गया है।

Pin It