अगर अमित शाह के बेटे पर मामला बनता है तो होनी चाहिए जांच: आरएसएस

संघ के सह सर कार्यवाहक दत्तात्रेय होसबोले ने दी प्रतिक्रिया
अमित शाह के बेटे की कंपनी की टर्नओवर में 16 हजार गुना बढ़ोत्तरी से विपक्ष के निशाने पर है भाजपा
वरिष्ठï नेता यशवंत सिन्हा भी सरकार से कर चुके हैं जांच की मांग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह पर लग रहे आरोपों पर पहली बार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से बयान आया है। संघ के सह सर कार्यवाहक दत्तात्रेय होसबोले ने कहा कि अगर प्राइम फेसी कोई मामला बनता हो तो जांच होनी चाहिए। होसबोले का यह बयान भोपाल में संघ की बैठक से इतर सामने आया है। इस मामले को लेकर कांग्रेस बीजेपी को लगातार घेर रही है। ऐसे में आरएसएस का बयान काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।
बता दें कि एक वेबसाइट द वायर ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि जय शाह ने एक ही साल में अपने बिजनेस टर्नओवर को 50,000 से बढ़ाकर 80 करोड़ किया है। हालांकि, बीजेपी की ओर से इस मामले को गलत बताया गया। वहीं जय शाह की ओर से वेबसाइट पर 100 करोड़ रुपए की मानहानि का केस भी किया गया है। इस रिपोर्ट के प्रकाशित होने के बाद से बीजेपी लगातार विपक्ष के निशाने पर है। विपक्ष के तीखे सवालों का जवाब बीजेपी को सूझ नहीं रहा है। आरएसएस के सह सर कार्यवाहक दत्तात्रेय के अमित शाह के बेटे के मामले पर बयान से मामला और गर्म हो गया है। वहीं कल वरिष्ठï नेता यशवंत सिन्हा ने भी इस मामले में सरकार से जांच की मांग की थी। उन्होंने सरकार के कामकाज पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस मामले में बीजेपी इस तरह से प्रतिक्रिया दे रही है जिसे देखने के बाद लगता है कि कुछ ना कुछ तो गड़बड़ है। भोपाल में चल रही आरएसएस की तीन दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक में दत्तात्रेय ने कहा कि देश अभी नाजुक हालात से गुजर रहा है। लोकतंत्र में बहस होना काफी जरूरी है। उन्होंने कहा कि संघ प्रमुख की दशहरा स्पीच हमारी पॉलिसी स्टेटमेंट है। हमारी इस पॉलिसी पर हमें अच्छा फीडबैक मिला है। इस बैठक में देश के विभिन्न क्षेत्रों में संघ कार्यकर्ताओं के कामकाज की समीक्षा करने के अलावा शिक्षा में मातृभाषा के प्रयोग, संस्कृति संरक्षण, हिन्दुत्व, युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार तथा राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े विषयों पर चर्चा होगी।

डॉ. राम मनोहर लोहिया के पुण्यतिथि समारोह में साथ दिखे मुलायम सिंह व अखिलेश यादव

भाजपा काम करने के बजाए सपा की योजनाएं बंद करने में व्यस्त : अखिलेश यादव
मुलायम ने कहा, परिवार एक है और हमेशा एक ही रहेगा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राम मनोहर लोहिया की 50वीं पुण्यतिथि के मौके पर लोहिया पार्क में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव एक साथ नजर आए। इस मौके पर इन दोनों लोगों ने राम मनोहर लोहिया की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनके बारे में विस्तृत चर्चा की। इस अवसर पर सपा के अन्य नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।
इस अवसर पर सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने मीडिया से बातचीत के दौरान अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार कोई काम नहीं कर रही है, बल्कि हमारी चालू की गई योजनाओं को बंद कर कर रही है। अखिलेश ने कहा कि आज हम लोहिया जी के जन्मदिवस को निर्वाण दिवस के रूप में मना रहे हैं। मुलायम सिंह की मौजूदगी पर उन्होंने कहा कि नेताजी ने आज यहां आकर मुझे आशीर्वाद दिया है। नेताजी कन्नौज से चुने गए, उन्होंने सीट छोड़ी और मुझे लडऩे का मौका मिला। उन्होंने कहा कि कन्नौज से लगातार समाजवादी जीतते हुए आ रही हैं। इसके पहले भी यहां से समाजवादी लोग ही जीतते रहे थे। सपा अध्यक्ष ने कहा कि हमारा देश लोहिया जी के विचारों पर चल कर ही तरक्की कर सकेगा। बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी वाले कहते थे कि इस बार जिता दो, सभी को 15 लाख रूपये देंगे। अब तो ये लोग गरीबी हटाओ का भी नारा देने लगे हैं। अखिलेश ने कहा कि राजनैतिक परिवारवाद से अलग पैसे के परिवारवाद पर चर्चा कब होगी।

जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट न जाकर लोहिया पार्क पहुंचे अखिलेश
राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के तहत सपा ने जनेश्वर-लोहिया ट्रस्ट और लोहिया पार्क में सभाएं आयोजित की थीं। सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष को जनेश्वर ट्रस्ट में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में जाना था, लेकिन सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव आखिरी समय में लोहिया पार्क चले गए। इसका कारण माना जा रहा है कि उस समय जनेश्वर ट्रस्ट में सपा नेता शिवपाल सिंह मौजूद थे।

Pin It