स्वच्छता अभियान का हिस्सा बनेंगे रैग पिकर्स

लखनऊ। नगर निगम स्वच्छता अभियान में रैग पिकर्स (कूड़ा बीनने वाले) को शामिल करने की तैयारी कर रहा है। शहर में हजारों रैग पिकर्स को नगर निगम प्रशिक्षित करेगा और इन्हीं रैग पिकर्स से डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन का कार्य कराया जाएगा। इस कार्य के लिए सभी रैग पिकर्स का सर्वे भी किया जायेगा। अपर नगर आयुक्त पीके सिंह ने बताया कि केरल और मध्य प्रदेश की तर्ज पर रैग पिकर्स को आईकार्ड के साथ वर्दी और कूड़ा बीनने का उपकरण भी मुहैया करावाया जाएगा। इसके लिए सभी सफाई एवं खाद्य निरीक्षकों को रैग पिकर्स के सर्वे का काम सौंप दिया गया है। इनका सर्वे कराये जाने और सूची बनाने के बाद सभी रैग पिकर्स को प्रशिक्षित किया जाएगा। फिर सभी को डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन का कार्य दिया जाएगा। सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वॉयरमेंट की स्टडी में केरल की अलफुजा नगर पालिका को सबसे साफ शहरों की सूची में रखा गया है। इसी तर्ज पर केरल सरकार ने रैग पिकर्स व कबाडिय़ों का डेटा तैयार किया है। दरअसल मध्य प्रदेश के सभी नगर निगम में इसी तरह काम हो रहा है। इसी वजह से इंदौर सबसे साफ शहरों की सूची में टॉप पर है।

केजीएमयू में ऑनलाइन होगी बेडों की संख्या

लखनऊ। केजीएमयू में अब मरीजों को बेड के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। किस विभाग में कितने बेड खाली हैं इसका ब्यौरा जानने के लिए लोगों को दौड़भाग करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। बस एक क्लिक पर डाक्टरों को इसकी जानकारी मिल जाएगी। केजीएमयू में लगभग 4500 बेड है। अकेले ट्रामा की बात की जाए तो यहां तीन सौ से ज्यादा बेड है। वहीं रोजाना कम से कम दो सौ मरीज भर्ती होते है। ऐसे में डाक्टरों को खाली और भरे बेडों की जानकारी नहीं हो पाती थी जिसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ता था और कई मरीजों की बेड की सही जानकारी न होने के कारण डॉक्टर उन्हें वापस कर देते थे। आईटी सेल के प्रभारी अमित भट्टïाचार्या का कहना है कि अभी बेडों की जानकारी के पुख्ता इंतजाम न होने के कारण सारा काम अन्दाजे से किया जा रहा था। कई बार चूक हो जाने के कारण मरीज को परेशानी होती थी, लेकिन अब सभी बेड को ऑनलाइन किया जा रहा है। इसके लिए सभी विभागों में नेटवर्किग की जा चुकी है। उन्होंने बताया अभी फिलहाल चार विभागों से यह ऑनलाइन बेड की व्यवस्था शुरू कि जाएगी, लेकिन जल्द ही इसे पूरे केजीएमयू से जोड़ा जाएगा। शुरु में चार विभाग फिजिकल एण्ड मेडिकल रिहैब्लिटेशन, प्लास्टिक सर्जरी विभाग, हड्डïी और गठिया में चालू किया जाएगा।

Pin It