यूपी पुलिस की एक सराहनीय पहल

आजकल की भागदौड़ वाली जिंदगी में, जब सडक़ों पर हादसों की संख्या लगातार बढ़ रही है, ऐसे में हेलमेट और भी जरूरी हो जाता है। करवा चौथ पर पुलिस ने चेकिंग के दौरान ऐसे लोगों को देखा जिनके पास हेलमेट नहीं था, उन्हें हेलमेट दिया। दरअसल हेलमेट को हमें अपनी सुरक्षा से जोडक़र देखना होगा, यह पुलिस से बचने का कोई साधन नहीं बल्कि आज के समय में हमारी सुरक्षा के लिए जरूरी है।

लंबे समय बाद यूपी पुलिस की एक अच्छी पहल दिखाई दी। वर्दी और डंडे के रौब के बजाय पुलिस उस भूमिका में नजर आई जिसमें पुलिस को हमेशा दिखाई देना चाहिए। यूपी के कई शहरों में करवा चौथ के दिन पुलिस ने लोगों को हेलमेट बांटकर जहां महिलाओं को इस बात के लिए जागरूक किया कि वे पति को घर से निकलने पर हेलमेट पहनने की सलाह दें, वहीं पुरुषों को उनकी परिवार के प्रति जिम्मेदारी का दायित्वबोध भी कराया। दरअसल हेलमेट को लेकर यह सोच बनी हुई है कि इसके न पहनने से पुलिस चेकिंग के दौरान रोक लेगी और चालान या फिर जुर्माना देना पड़ेगा। हेलमेट को सुरक्षा के लिए जरूरी साधन नहीं माना जाता। तमाम बार हम देखते हैं कि हेलमेट बाइक की हैंडिल में टांग लिया जाता है और सामने पुलिस को देखते ही हम सिर पर रख लेते हैं।
आजकल की भागदौड़ वाली जिंदगी में, जब सडक़ों पर हादसों की संख्या लगातार बढ़ रही है, ऐसे में हेलमेट और भी जरूरी हो जाता है। करवा चौथ पर पुलिस ने चेकिंग के दौरान ऐसे लोगों को देखा जिनके पास हेलमेट नहीं था, उन्हें हेलमेट दिया।
दरअसल हेलमेट को हमें अपनी सुरक्षा से जोडक़र देखना होगा, यह पुलिस से बचने का कोई साधन नहीं बल्कि आज के समय में हमारी सुरक्षा के लिए जरूरी है। अगर आम आदमी की आदत हेलमेट लगाकर चलने की हो जाए तो निश्चित रूप से सडक़ हादसों में मरने वालों की संख्या में कमी आएगी। राजधानी के अलावा प्रदेश के कई शहरों में यह देखने को मिला कि पुलिस ने लोगों को हेलमेट का वितरण किया। पुलिस की यह पहल वास्तव में सराहनीय है। यही मित्र पुलिस का आचरण है। इसका संदेश किसी चालान या जुर्माना भरने से कहीं अधिक प्रभावी होगा। खासतौर पर महिलाओं को इसके लिए जागरूक करने का बड़ा लाभ होगा। करवा चौथ पर हेलमेट बांटकर पुलिस ने महिलाओं को इस दिशा में सोचने और समझने के लिए विवश किया है। वास्तव में महिलाएं यदि इस दिशा में काम करेंगी तो निश्चित रूप से परिवार के सदस्यों में हेलमेट लगाकर ही घर से निकलने की आदत बनेगी। उत्तर प्रदेश पुलिस को इस तरह के प्रयोग करते रहना चाहिए, हम मानते हैं कि आगे भी पुलिस इस तरह के सराहनीय कदम उठाती रहेगी।

Pin It