लोहिया में बिजली गुल होने की घटना से मरीजों में खौफ

अस्पताल प्रबंधन के पास पर्याप्त वैकल्पिक व्यवस्था का अभाव

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के गोमतीनगर स्थित डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती मरीजों में खौफ नजर आने लगा है। यहां 23 घंटे तक लगातार बिजली नहीं होने से परेशान मरीजों और उनके परिजनों ने दूसरी ठौर तलाशने का मन बना लिया है। अस्पताल में भर्ती कई मरीज अन्य जगहों पर इलाज के लिए जाने की अर्जी दे चुके हैं। वहीं अस्पताल प्रशासन के पास ऐसी समस्याओं से निपटने का कोई वैकल्पिक इंतजाम नजर नहीं आ रहा है।
लोहिया अस्पताल में शनिवार रात से कटी बिजली रविवार को रात में आई। बिजली कटने का कारण मेन लाइन में गड़बड़ी बताया जा रहा है। अस्पताल में बिजली गुल होने से आईसीयू और एनआईसीयू तथा इमरजेंसी व अन्य वार्डो में एसी बंद रहा। जिससे पूरा वार्ड बंद डिब्बे की तरह उबल रहा था। गर्मी से मरीज व्याकुल हो गये। दरअसल लोहिया अस्पताल में शनिवार देर रात करीब एक बजे अस्पताल में बिजली चली गयी। इमरजेंसी समेत अन्य वार्डो में अंधेरा होने से तीमारदारों हंगामा शुरू कर दिया। जिसके बाद अस्पताल प्रशासन हरकत में आया और जनरेटर से बिजली का संचालन शुरू किया गया। उसके बाद अस्पताल में बिजली को ठीक करने के लिए काम शुरू हुआ लेकिन रविवार दोपहर 12 बजे के बाद खराबी का पता चल सका। यह खराबी जमीन के 8 फिट नीचे गहरी केबल में बतायी जा रही थी। इसके बाद खुदाई शुरू हुयी तो मशीन ही टूट गयी। उसके बाद दूसरी मशीन लाई गयी जिससे खुदाई शुरू की गयी। अस्पताल में बिजली जाने से भर्ती मरीजों को खासी पेरशानी झेलनी पड़ी। मरीज गर्मी से बेहाल रहे। हालांकि मरीजों को समस्या से बचाने के लिए जनरेटर चलाए गए। बीच में कई बार जनरेटर ने भी धोखा दिया।

Pin It