गले से नहीं दिल से बोलें भारत माता की जय : सुनील बंसल

राष्ट्र निर्माण के लिए राष्ट्रीयता का अहसास होना जरूरी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भाजपा के प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने कहा कि राष्ट्रीयता राष्ट्र निर्र्माण की अनिवार्य शर्त है। इसके लिए राष्ट्रीयता का अहसास होना जरूरी है। भारत माता की जय और वंदेमातरम का नारा गले से नहीं बल्कि दिल से लगाना चाहिए। जब नारा हृदय से निकलेगा तभी सही मायने में भारत माता की जय होगी। श्री बंसल लखनऊ विश्वविद्यालय के मालवीय सभागार में एशियन इंस्टीट्यूट आफ ह्यूमन साइंस एंड डवलपमेंट के 22वें स्थापना दिवस पर आयोजित राष्ट्र निर्र्माण एवं राष्ट्रीय एकीकरण में युवाओं की भूमिका विषय पर आयोजित सेमिनार में मुख्य अतिथि थे।
उन्होंने कहा कि देश को आज ऐसे युवाओं की जरूरत है जो अपना कैरियर देश की जरूरत के हिसाब से तय करें। क्योंकि हम जैसे होंगे वैसा ही भविष्य देश का बनेगा। यह भी कहा कि आज शिक्षण संस्थान बेहतर शिक्षा देने के बजाय डिग्री बांटने और रोजगार देने की संस्था बन गए हैं। इसमें सुधार की जरूरत है। विशिष्ट अतिथि के रूप में विश्व संवाद केंद्र के सचिव अशोक सिन्हा मौजूद थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति प्रो. एसपी सिंह ने की।

Pin It