पीजीआई ने तेज की ट्रामा सेंटर को शुरू करने की कवायद

  • तैयार किया गया खाका, आधुनिक सुविधाओं से होगा लैस
  • सीनियर और जूनियर रेजीडेंट की जल्द होगी तैनाती

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एसजीपीजीआई ने ट्रॉमा सेंटर को संचालित करने की कवायद तेज कर दी है। सेंटर को आधुनिक चिकित्सा उपकरणों से लैस किया जाएगा। सीनियर और जूनियर रेजीडेंट की तैनाती की जाएगी। इस साल के अंत तक सारी तैयारियां पूरी होने की उम्मीद है। सेंटर के शुरू होने से मरीजों को राहत मिलेगी।
ट्रॉमा सेंटर के प्रभारी प्रो. राजकुमार के मुताबिक सेंटर के लिए अलग से 33 संकाय सदस्य की तैनाती के लिए खाका तैयार किया गया है। इसमें पांच न्यूरो सर्जन, पांच आर्थोपेडिक और चार जनरल सर्जन के अलावा प्लास्टिक, ईएनटी, मैक्सीफेशियल सहित दूसरी सर्जरी के लिए संकाय सदस्यों का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इस वर्ष के अंत तक नियुक्ति प्रक्रिया पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके साथ 66 सीनियर रेजीडेंट और 10 जूनियर रेजीडेंट की तैनाती होनी है। नर्स और मरीज सहायकों फिलहाल आउटसोर्स किया जाएगा। सेंटर की बिजली केबल ठीक कराई जा चुकी है। एक लाइन अलग से वृंदावन उपकेंद्र से ली जा रही है। यह सेंटर पचास बेड से लैस होगा। वहीं सीटी स्कैन, एमआरआई, एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड आदि की मशीने पीपीपी मॉडल पर लगाई जाएंगी ताकि मशीन खरीदने और मेंटेनेंस की जिम्मेदारी संबंधित संस्थान की हो। मरीजों की जांच से जो आमदनी होगी उसका कुछ प्रतिशत संबंधित कंपनी को मिलेगा। खून की जांच के लिए भी संस्थान में पहले से रीजेंट कांट्रैक्ट पर लैब है, जिसकी शाखा वहां खुल जाएगी।

Pin It