यूपी में शुरू होंगी आईओसी की 20 हजार करोड़ की परियोजनाएं: राजीव कुमार

मुख्य सचिव से मिले आईओसी के चेयरमैन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश के मुख्य सचिव राजीव कुमार ने बताया कि इंडियन ऑयल कार्पोरेशन द्वारा प्रदेश के बहुमुखी विकास के लिए लगभग 20 हजार करोड़़ की विभिन्न परियोजनाएं प्रदेश में शीघ्र स्थापित की जाएंगी, जो आगामी तीन वर्षों के बीच क्रियाशील हो जायेेंगी।
मुख्य सचिव शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय में इंडियन ऑयल कार्पोरेशन के चेयरमैन संजीव सिंह से भेंट वार्ता कर रहे थे। वार्ता के उपरान्त उन्होंने आईओसी के चेयरमैन द्वारा दिये गये प्रस्तावों के संदर्भ में विस्तार से बताया कि जनपद मिर्जापुर में ग्राम चकगम्भीरा के निकट 120 एकड़ क्षेत्रफल में माडर्न ऑयल टर्मिनल स्थापित किया जाना प्रस्तावित है। यह स्थान चुनार रेलवे स्टेशन से लगभग चार किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इसकी परियोजना लागत लगभग 650 करोड़ रुपये है जिससे क्षेत्र का बहुमुखी विकास होने के साथ-साथ रोजगार के अवसर सुलभ हो सकेंगे। राजीव कुमार ने बताया कि आईओसी द्वारा मथुरा रिफाइनरी में बीएस-6 प्रोजेक्ट, ऑक्टामैक्स प्रोजेक्ट एवं ग्रिड पॉवर को सुविधाजनक बनाने हेतु अवस्थापना विकास का कार्य कराया जायेगा। इसके अतिरिक्त कानपुर स्थित टीडब्ल्यू गैन्ट्री की रिमॉडलिंग कराये जाने का प्रस्ताव भी है। जिस पर 32.27 करोड़ का अनुमानित व्यय होगा। जो नवंबर, 2017 तक पूर्ण हो जायेगा। कुशीनगर जनपद में नये बॉटलिंग प्लान्ट की स्थापना की जायेगी। कानपुर-बरौनी तक ब्रान्च पाइपलाइन निर्मित कराये जाने का प्रस्ताव है जिस पर उत्तर प्रदेश में लगभग 75 करोड़ रुपये का व्यय संभावित है। इसके अतिरिक्त मथुरा-टूण्डला पाइपलाइन का लखनऊ सहित कानपुर तक विस्तारीकरण का कार्य कराया जायेगा। कांडला-गोरखपुर एलपीजी पाइपलाइन, जिसकी लम्बाई लगभग 2757 किलोमीटर है, के निर्माण पर 3500 करोड़ का व्यय अनुमानित है।

Pin It