लक्ष्मणपुरी में दबंग बिल्डर ने शुरू की अवैध अपार्टमेंट में फ्लैटों की बिक्री

रसूखदार बिल्डर के आगे असहाय हुए एलडीए के अफसर और पुलिस
जनता की खून-पसीने की कमाई लूटने पर आमादा बिल्डर, बेच रहा फ्लैट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भू-माफिया और भ्रष्ट बिल्डरों को लेकर सख्त हैं। वहीं दूसरी ओर लखनऊ विकास प्राधिकरण और पुलिस अवैध निर्माण के खिलाफ दबाव में नजर आ रही है। यही कारण है कि बिल्डरों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। प्रधिकरण के अफसर केवल लिखा-पढ़ी की कार्रवाई कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर रहे हैं और बिल्डर अफसरों के निर्देश को ठेंगा दिखा रहे हैं।
फैजाबाद रोड स्थित लक्ष्मणपुरी में प्लाट संख्या-48 पर बने पांच मंजिला अवैध अपार्टमेंट के फ्लैटों की ब्रिकी खुलेआम शुरू हो गई है। अपार्टमेंट में बने 20 फ्लैटों में एक फ्लैट बिक चुका है। आशियाने की चाहत में लोग फ्लैटों को पसंद करने पहुंचने लगे हैं। अवैध अपार्टमेंट के बारे में जानकारी से अंजान लोगों को बिल्डर ठग रहा है। जनता की गाढ़ी कमाई लूटी जा रही है लेकिन एलडीए के जिम्मेदार अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। आलम यह है कि फ्लैटों की बिक्री से संबंधित जानकारी अफसरों को नहीं है। प्राधिकरण के अफसरों और पुलिस प्रशासन की नाकामी के कारण बिल्डर के हौसले बुलंद हैं। जानकारों के मुताबिक लक्ष्मणपुरी में इस अपार्टमेंट का मालिक कोई छोटा-मोटा बिल्डिर नहीं है बल्कि अरबपति व्यवसायी है। बताया जा रहा है कि इस व्यवसायी की पहुंच ऊपर तक है, जिसके चलते लखनऊ विकास प्राधिकरण के अफसर भी इस बिल्डर के खिलाफ सिर्फ दिखावे की कार्रवाई कर रहे हैं। यही कारण है कि 26 मई 2017 को बिल्डिंग को पुलिस अभिरक्षा में दिये जाने के बाद भी एक ओर फ्लैटों की बिक्री शुरू हो गई वहीं दूसरी ओर बिल्डिंग की बाहरी दीवारों पर पेंटिंग का काम जारी है।
जबकि करीब छह दिन पहले 22 सितम्बर को जोन-एक के अधिशासी अभियंता चक्रेश जैन ने पुलिस को पत्र भेज कर बिल्डिंग का निर्माण कार्य रोकने के लिए कहा था लेकिन पुलिस को भेजे गए पत्र के बारे में जानकारी ही नहीं है। इसके बावजूद प्राधिकरण के अफसरों ने एसएसपी को पत्र भेज कर जिम्मेदार गाजीपुर पुलिस की शिकायत तक नहीं की।

अवैध निर्माण को शह देने वाले अभियंताओं के खिलाफ कार्रवाई होगी। गाजीपुर थाने की पुलिस कार्य रोकने में विफल है तो एसएसपी को पत्र लिखा जाएगा। अगर फ्लैटों की ब्रिकी शुरू हो गई है तो उनको रोकने के लिए नियमानुसार कार्रवाई होगी।
जयशंकर दुबे,सचिव, एलडीए

बलरामपुर अस्पताल में धनवंतरि सेवा केंद्र शुरू

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने किया उद्घाटन
मरीजों को आसानी से मिल सकेंगे स्ट्रेचर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बलरामपुर अस्पताल में धनवंतरि सेवा केंद्र का उद्घाटन किया। इस मौके पर कर्मचारियों को सम्मानित भी किया गया। इस सेवा केंद्र के शुभारंभ से अब बलरामपुर अस्पताल में मरीजों को स्ट्रेचर और व्हील चेयर के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। केंद्र मरीजों को यह सुविधा उपलब्ध कराएगा। डिप्टी सीएम ने कहा कि धनवंतरि सेवा केन्द्र से जुड़े सभी कर्मचारियों को सरकार एक महीने का अग्रिम वेतन देगी। इस मौके पर मंत्री स्वाति सिंह ने सभी कर्मचारियों को सम्मनित किया।
बलरामपुर अस्पताल में आज धनवंतरी सेवा केंद्र का शुभारंभ हो गया। केंद्र की ओर से अस्पताल को 28 स्ट्रेचर व 30 व्हील चेयर दी गई हैं। बलरामपुर के निदेशक राजीव लोचन ने कहा कि असहाय मरीज अस्पताल में खुले सेवा केंद्र से संपर्क कर सहायता हासिल कर सकते हैं। गौरतलब है कि निदेशक राजीव लोचन ने धनवंतरि सेवा का उद्घाटन दोबारा कराया है। इससे पहले अगस्त में भी इस सेवा केंद्र का उद्घाटन किया गया था। उस समय निदेशक राजीव लोचन ने डॉक्टर सूर्यकांत और बलरामपुर के चिकित्सा अधीक्षक आशुतोष दुबे से इस सेवा केंद्र का उद्घाटन कराया था और आज एक बार फिर सेवा केंद्र का उद्घाटन डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य से कराया गया।

पर्यटन के विकास पर सरकार कर रही है फोकस: रीता 

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। गोमती नगर स्थित पर्यटन भवन में पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रमों व प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। इस मौके पर प्रमुख सचिव पर्यटन अवनीश अवस्थी भी मौजूद रहे।
पयर्टन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने विश्व पर्यटन दिवस पर लोगों को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश में पर्यटन के विकास पर सरकार खास फोकस कर रही है। पर्यटन के विकास के लिए कई योजनाएं शुरू की जा रही हैं। संगम नगरी में हेरिटेज वॉक शुरू किया जा रहा है। हेरिटेज वॉक से संगम नगरी की पौराणिकता की जानकारी लोगों को आसानी से मिल सकेगी। प्रयाग को विश्वस्तर पर पहचान मिलेगी। उन्होंने कहा कि पर्यटन के विकास के लिए राम और कृष्ण परिपथ का सरकार निर्माण करा रही है। इस मौके पर पर्यटन मंत्री ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया और पर्यटन से संबंधित एक पुस्तिका भी जारी की।

नोटबंदी से चरमराई अर्थव्यवस्था: सिन्हा

यशवंत सिन्हा ने जेटली पर कसा तंज, कहा मोदी कहते हैं गरीबी करीब से देखी, इसलिए सभी को करीब से दिखाने में जुटे हैं जेटली
अभी तक विपक्षी दलों के निशाने पर थी सरकार, अब पार्टी के नेता भी साध रहे निशाना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। लगातार गिरती जीडीपी और चरमरा रही अर्थव्यवस्था के कारण मोदी सरकार की मुश्किलें बढ़ रही हैं। भले ही मोदी सरकार अपने कठिन फैसलों को न्यू इंडिया की ओर बढ़ता कदम बताकर विपक्षी दलों को चुप कराने की कोशिश कर रही हो लेकिन अब उनकी ही पार्टी से उनके फैसलों के विरोध में आवाज उठने लगी है। बीजेपी के बड़े नेता और पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ने गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर अरुण जेटली पर निशाना साधा है। एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में यशवंत सिन्हा ने कहा कि प्रधानमंत्री का दावा है कि उन्होंने गरीबी को काफी नजदीक से देखा है। उनके वित्तमंत्री यही कोशिश कर रहे हैं कि सभी भारतीय भी उसे (गरीबी को) उतना ही नजदीक से देख सकें।
इंटरव्यू के दौरान वरिष्ठï नेता यशवंत सिन्हा यहीं नहीं रुके। नोटबंदी के सवाल पर सिन्हा ने कहा, नोटबंदी ने गिरती जीडीपी को और कमजोर करने में अहम भूमिका अदा की। आज के समय में न ही नौकरी मिल रही है और न ही विकास तेज हो रहा है, जिसका सीधा असर इन्वेस्टमेंट और जीडीपी पर पड़ा है। यशवंत सिन्हा के मुताबिक सरकार ने जीएसटी को जिस तरह लागू किया उसका भी नकारात्मक असर अर्थव्यवस्था पर पड़ा है।

दस घंटे में दो जगहों पर रेल हादसा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। देश में रेल हादसे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। आज सुबह ओडिसा और यूपी में दो बड़े रेल हादसे हुए हैं। ओडिशा में मालगाड़ी के 16 डिब्बे पटरी से उतर गये। ये रेल हादसा सुबह 4 बजे के आसपास ओडिशा के नरगुंडी स्टेशन के पास हुआ। इस दुर्घटना के बाद रेल ट्रैफिक बाधित हो गया है। ट्रैक को सही करने का काम तेजी से चल रहा है। वहीं बहराइच से नेपाल जा रही ट्रेन का इंजन पटरी से उतर गया लेकिन दुर्घटना में किसी की मौत नहीं हुई है। अधिकारियों का कहना है कि शंटिंग के दौरान पैडमैन की लापरवाही के चलते यह हादसा हुआ। हालांकि इसमें अभी तक किसी के घायल होन की कोई खबर नहीं आई है। लेकिन इंजन के उतरने की वजह से यात्री कई घंटे तक परेशान रहे।

यूपी का सौहार्द बिगाडऩे की बड़ी साजिश नाकाम

लखनऊ। देश और प्रदेश में सौहार्द बिगाडऩे की कोशिशें लगातार की जा रही हैं। इसी कड़ी में यूपी में सौहार्द बिगाडऩे की एक बड़ी साजिश को नाकाम किया गया है। एसएसबी और पुलिस के संयुक्त अभियान में बहराई से नेपाल की तरफ जा रही प्राइवेट बस से 154 तलवारें बरामद की गई हैं। पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में ले लिया है। इनसे पूछताछ की जा रही है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक आज सुबह एसएसबी और पुलिस का संयुक्त चेकिंग अभियान चलाया जा रहा था। इसी बीच बहराइच से नेपाल जा रही पांच प्राइवेट बसों की चेकिंग की गई। इन बसों में कुल 74 तलवारें मिलीं। इसलिए जरवल रोड पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में ले लिया है। वहीं रुपईडीह क्षेत्र से भी एसएसबी और पुलिस के तलाशी अभियान में 80 तलवारें बरामद की गई हैं। इस तरह कुल 154 तलवारें बरामद की गई है। पुलिस और एसएसबी के अधिकारियों का कहना है कि इतनी अधिक संख्या में प्राइवेट बसों में तलवार का मिलना यूपी और नेपाल की सीमा से सटे क्षेत्रों में किसी बड़ी दुर्घटना की साजिश की ओर इशारा करता है।

आईएएस अनुराग तिवारी की हुई थी हत्या

लखनऊ। कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक अनुराग तिवारी की हत्या हुई थी। ऐसे में हार्ट अटैक और ड्रग्स की रिपोर्ट खारिज हो गई है। अनुराग के परिजनों ने पहले ही हत्या होने का आरोप लगाया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में एंटी मार्टम इंजरी मिली है। इससे साफ हो गया कि अनुराग तिवारी की मौत हार्ट अटैक से नहीं हुई थी। साथ ही यह भी स्पष्टï हो गया है कि यह मौत न तो स्वाभाविक थी और न ही आत्महत्या बल्कि यह हत्या का मामला है। सीबीआई ने हत्या की थ्योरी पर जांच आगे बढ़ा दी है। गौरतलब है कि 17 मई को अनुराग तिवारी की लाश संदिग्ध हालत में मिली थी। लखनऊ में मीराबाई मार्ग स्थित वीआइपी गेस्ट हाउस में ठहरे कर्नाटक के आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी (36) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। सीबीआई जांच के आश्वासन के बाद परिवार को इंसाफ की आस जगी थी। अनुराग के भाई मयंक ने पुलिस को सूचित किया था कि उनके भाई ने कर्नाटक में किसी बड़े घोटाले को उजागर करने की बात बताई थी। साथ ही ये भी कहा था कि जो जांच वो कर रहा है, उसमें कई बड़ी मछलियां भी फंसेंगी।

सफाई कर्मियों ने निगम मुख्यालय का किया घेराव

लखनऊ। वेतन न मिलने से नाराज सफाई कर्मचारियो ने उत्तर प्रदेश सफाई कर्मचारी संघ के बैनर तले नगर निगम मुख्यालय का घेराव कर धरना-प्रदर्शन किया। संघ के प्रमुख महामंत्री जगदीश प्रसाद बाल्मीकि ने बताया कि पिछले चार माह से सफाई कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है न ही कार्यदायी संस्था के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों को वेतन दिया गया है। यही नहीं सेवानिवृत्त कर्मचारियों की पेंशन कई माह से लटकी है। जिसके चलते शहर की सफाई व्यवस्था करने वाले कर्मियों को जीवन निर्वाह करने मे समस्या आ रही है। संघ के प्रदेश सचिव रितेश बाल्मीकि ने बताया कि अगर सफाई कर्मचारियों की मांगों पर सकारात्मक निर्णय नहीं लिया जाता है तो संघ आंदोलन के लिए बाध्य होगा।

Pin It