प्रदेश में आवारा पशुओं पर सरकार गंभीर नगर पंचायतों में गोशालाएं खोलने की कवायद

 

जिलाधिकारी के नेतृत्व में बनी समितियां करेगी संचालन
पशुओं से होने वाली दुर्घटनाओं पर लगेगा अंकुश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश की योगी सरकार ने आवारा पशुओं पर लगाम लगाने की कवायद शुरू कर दी है। सरकार ने प्रदेश की सडक़ों पर हजारों की तादाद में घूम रहे आवारा पशुओं के लिए सभी पंचायतों में गोशालाएं खोलने के आदेश दिए हैं। इसकी निगरानी जिलाधिकारी के नेतृत्व में बनी लोगों की समितियां करेंगी। इससे आवारा पशुओं के कारण आए दिन हो रही सडक़ दुर्घटनाओं पर लगाम लग सकेगी। सडक़ों पर आवारा पशु दुर्घटना की बड़ी वजह बन रहे हैं। इससे कई लोगों की जान जा चुकी है। इसके अलावा ये पशु लोगों पर हमला भी कर देते हैं।
आवारा पशुओं के कारण होने वाली दुर्घटनाओं के नए आंकड़ों ने सरकार को परेशान कर दिया है। इन पशुओं को सडक़ से हटाने के लिए योगी सरकार ने नए आदेश जारी किए हैं। अब सरकार सभी नगर पंचायत और बड़े पंचायतों में गोशालाएं खोलेगी और शहरों में डीएम के नेतृत्व में बनी लोगों की समितियां इसे संचालित करेंगी। इतने बड़े स्तर पर गोशालाएं बनाने की कवायद तेज कर दी गई है। दरअसल, पशुपालक पशुओं को दूध नहीं देने पर लावारिस छोड़ देते हैं। ये पशु शहर में सडक़ों पर घूमते हैं। ये पशु राहगीरों पर कई बार हमला कर देते हैं। सांड़ों के हमलों के कारण कई लोग घायल हो चुके हैं। ये पशु हाईवे पर भी घूमते हैं, जिसके कारण यहां दुर्र्घटनाओं की आशंका बढ़ जाती है। अब प्रदेश सरकार ने इन पशुओं को रखने और दुर्घटना से बचाने के लिए हर नगर पंचायत में गौशाला खोलने और हर बड़े पंचायत में कंक्रीट के शेड में गोशाला बनाने का फैसला लिया है। यही नहीं मुख्यमंत्री अब लावारिस गायों को सडक़ पर छोडऩे का मुद्दा अपने हर भाषण में उठा रहे हैं।

बढ़ी हादसों की संख्या
पीलीभीत, लखीमपुरखीरी, लखनऊ, बाराबंकी, इलाहाबाद सहित कई जिलों में बीते एक पखवाड़े में आवारा पशुओं से टक्कर से दर्जन भर से ज्यादा एक्सीडेंट हो चुके हैं। इन दुर्घटनाओं में आधा दर्जन से ज्यादा की मौत और कई दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए। बाराबंकी में हाईवे पर एक गाय को बचाने के चक्कर में पूरी गाड़ी नहर में गिर पड़ी और पांच लडक़ों की मौत हो गई, जबकि पीलीभीत में सांड के मोटरसाइकिल सवार से टक्कर में एक शख्स की मौत हो गई, जबकि दूसरा शख्स अस्पताल में पहुंच गया। लखनऊ-आगरा जैसे एक्सप्रेस वे पर भी लावारिश गौवंश की वजह से हादसों में काफी इजाफा हो गया है।

विशेष अभियान
सभी नगर निगमों को एक विशेष अभियान चलाने का आदेश दिया है। इस अभियान के अंतर्गत सडक़ पर घूमने वाली आवारा गायों को पकड़ कर गोशाला पहुंचाया जाएगा, जिससे उनकी सही तरीके से देखरेख हो सके। अक्सर स्थानीय लोग अपनी गाय का दूध निकाल कर उन्हें छोड़ देते हैं। ये पशु सडक़ों पर पहुंच जाते हैं। ये पशु हादसों को दावत देते हैं। योगी सरकार ने ऐसे लोगों के लिए जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए हैं. सरकार ने ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ जुर्माने का नियम लागू किया है, जिससे लोग अपने पालतू पशुओं को सडक़ों पर ना छोड़ें। चाहे वाराणसी हो या सहारनपुर कई जिलों में इन दिनों लावारिश पशुओं को पकडऩे का अभियान चल रहा है लेकिन इनको रखने का कोई स्थायी समाधान फिलहाल सरकार के पास नहीं है। नगर निगम इन्हें पकड़ता है, लेकिन उन्हें फिर छोडऩा पड़ता है क्योंकि न तो उनके पास इतनी जगह ना ही इतना चारा।

Pin It