अवैध निर्माण के आगे नतमस्तक हुआ एलडीए

बार-बार पुलिस को सूचना देने के बावजूद नहीं रुक रहा अवैध निर्माण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण के अफसर अवैध निर्माण पर रोक लागने में फेल साबित हो रहे हैं। दबंग बिल्डर सीलिंग और एफआईआर की कार्रवाई के बाद भी निर्माण कार्य बंद करने को तैयार नहीं हैं। इन सबके बावजूद प्राधिकरण के अफसर बिल्डिगों को ध्वस्त करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। लम्बे समय से सील बिल्डिंगों के ऊपर केवल कागजी कार्रवाई हो रही है। ऐसा ही एक मामला इन्दिरा नगर में देखने को मिला है। जहां धड़ल्ले से अवैध कॉम्पलेक्स में निर्माण कार्य जारी है।
इन्दिरा नगर स्थित लक्ष्मणपुरी में प्लाट संख्या 48 पिछले कुछ सालों में देखते ही देखते पांच मंजिला अवैध कॉम्पलेक्स बन कर तैयार हो गया। इस बीच प्राधिकरण के अभियंताओं की मिलीभगत से अनिल टेकरीवाल और अश्विनी टेकरीवाल की बिल्डिंग बन कर तैयार हो गई। कॉम्पलेक्स बनाने की शिकायत एलडीए के अफसरों के पास पहुंची तो 26 मई 2017 को बिल्डिंग को सील कर दिया गया। बिल्डिंग सील हो गई लेकिन बेखौफ बिल्डरों ने एक बार फिर निर्माण कार्य शुरू कर दिया। अभी दो दिन पूर्व प्राधिकरण के अधिशासी अभियंता चक्रेश जैन ने बिल्डिंग का निरीक्षण किया तो वहां पेंटिंग का कार्य जारी मिला। जिसके चलते एलडीए अफसरों के निर्देश पर गाजीपुर थाने की पुलिस को पत्र भेज कर निर्माण कार्य रोकने के लिए कहा गया। लेकिन बिल्डिरों के आगे पुलिस भी नतमस्तक नजर आ रही है। यही कारण है कि धड़ल्ले से अवैध निर्माण कार्य होने के बावजूद पुलिस कुछ नहीं कर पा रही है। इस क्षेत्र के अवर अभियंता ने बताया कि हमारी ओर से लगातार निर्माण कार्य रोकने के प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन पुलिस सहयोग नहीं कर रही है। बताया जा रहा है कि इस कॉमर्शियल कॉम्पलेक्स में 20 फ्लैट तैयार किए जा चुके हैं, जिनको बिल्डर बेचने की फिराक में हैं।
अवैध निर्माण कतई बर्दास्त नहीं किया जाएगा। यदि अवैध निर्माण कार्य जारी है तो प्राधिकरण के द्वारा दोबारा कार्रवाई की जाएगी। इसमें अगर पुलिस मदद नहीं करती है तो एसएसपी से शिकायत की जाएगी।
जयशंकर दुबे,सचिव, एलडीए

तंबाकू के खिलाफ जारी रहेगी जंग: अनुप्रिया

केजीएमयू में पिट एंड फिशर सीलेंट पायलेट योजना का शुभारंभ किया केंद्रीय राज्य मंत्री ने
स्वास्थ्य केंद्रों के जरिए लगातार चलाया जा रहा है जागरूकता अभियान
आखिरी व्यक्ति तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने का लक्ष्य: सिद्धार्थ नाथ सिंह

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। डब्ल्यूएचओ के आकड़ों के मुताबिक देश में 61 प्रतिशत मौतों का कारण नॉन कम्युनिकेबल डिजीज है। ग्लोबल सर्वे 2012 के अनुसार 35 प्रतिशत लोग उत्तर प्रदेश में तंबाकू का इस्तेमाल करते है। भारत तंबाकू का इस्तेमाल करने में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारत सरकार के प्रयासों से आंकड़ा कम हो रहा है। देश को तंबाकू मुक्त करने के लिए जंग जारी रहेगी। ये बातें केंद्रीय स्टेट हेल्थ मिनिस्टर अनुप्रिया पटेल ने पिट एंड फिशर सीलेंट और तंबाकू मुक्त उत्तर प्रदेश कार्यक्रम के उद्घाटन मौके पर कहीं।
केजीएमयू के ब्राउन हाल में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि तंबाकू कंट्रोल की शुरुआत 2012 में की गई थी। इसे 8 जिलों में चलाया जाना था, जिसमें गोरखपुर, बस्ती फैजाबाद, झांसी, मैनपुरी, मेरठ आदि शामिल हैं। चार जिलों में अभियान शुरू हो गया है लेकिन चार जिलों में अभी इसकी शुरुआत होनी बाकी है। इसके अंतर्गत हेल्थ केंद्रों पर तंबाकू से होने वाले नुकसान को बताया जा रहा है। सीएचसी और पीएचसी में जागरूकता अभियान चलाये जा रहे हैं। इसके साथ 6 से 14 साल तक के बच्चों के दांतों को कीड़ों से बचाने के लिए केजीएमयू से अनुबंध किया गया है। इसकी शुरुआत अभी पायलट प्रोजेक्ट के तहत की जा रही है। प्रदेश के स्वास्थ मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि स्कूल के अंदर ओरल हाईजीन बच्चों के सिलेबस में कहीं नहीं है जबकि बच्चों में दांतों के खराब होने का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। बचपन से ही बच्चों के जब दांत नहीं निकलते तब से ओरल हाईजीन पर ध्यान देना चाहिए। दूध की बोतल लिए हुए सोने से बच्चे के मुंह में बैक्टीरिया पनपने लगते है। लेकिन माता पिता इस ओर ध्यान नहीं देते है। उत्तर प्रदेश ने 595 डेंटल चेयर की मांग लोक सेवा आयोग से की गई है। उन्होंने कहा 2065 डॉक्टर प्रदेश में नियुक्त किये गए है, इसके अलावा 1000 डॉक्टर के वर्किंग इंटरव्यू शुरू किये गए हैं। अभी भी डॉक्टर की कमी है। 30 प्रतिशत विशेषज्ञ डॉक्टर बढ़ाएंगे। इसके साथ ही ऑनलाइन फीडिंग चालू होने जा रही है। सरकार चाहती है कि आखिरी व्यक्ति तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंच सके। इस मौके पर डीजी हेल्थ पद्माकर सिंह, कुलपति प्रो. मदन लाल बह्मï भट्ट, डॉक्टर सुनील शर्मा आदि मौजूद रहे।

लडक़ी के साथ छेडख़ानी और अश्लील वीडियो बनाने वाला अरेस्ट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पुलिस की सख्ती के बावजूद शोहदे अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला राजधानी के इंदिरानगर थाना क्षेत्र का है। यहां एक युवती ने मोहल्ले के ही एक शोहदे पर अश्लील हरकत करने और छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। पीडि़ता का आरोप है कि आरोपी ने उसे झुग्गी झोपड़ी से खींचकर ये गंदा काम किया। शोर मचाने पर स्थानीय लोग दौड़े और भाग रहे आरोपी को पकडक़र जमकर धुनाई की। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस उसे पकडक़र थाने ले आई। शोहदे के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है।
थाना प्रभारी इंदिरानगर मुकुल वर्मा ने बताया कि 100 नंबर पर इस घटना की सूचना मिली। आरोपी को थाने लाया गया है, उसके खिलाफ विधिक कार्रवाई की जा रही है। आरोपी युवक नदीम इंदिरानगर के चानन का रहने वाला है। वह लड़कियों के साथ रोजाना छेडख़ानी करता था लेकिन परेशान लड़कियां इसे नजअंदाज कर देती थीं। इसके चलते आरोपी के हौसले काफी बुलंद हो गए थे।

हनीप्रीत ने दायर की अग्रिम जमानत याचिका

नई दिल्ली। पुलिस को चौंकाते हुए राम रहीम की राजदार हनीप्रीत की ओर से दिल्ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका दायर की गई है। आज इस मामले पर सुनवाई होगी। इस याचिका में हनीप्रीत ने पंजाब-हरियाणा के ड्रग्स सिंडिकेट से खुद की जान का खतरा बताया है।
हनीप्रीत की तलाश में दिल्ली में छापेमारी की जा रही है। हरियाणा और दिल्ली पुलिस की संयुक्त टीम ने ग्रेटर कैलाश और सीआर पार्क में छापेमारी की है। सुबह 7.30 बजे ग्रेटर कैलाश स्थित डेरा के आश्रम में पुलिस ने छापा मारा, लेकिन यहां हनीप्रीत नहीं मिली। उधर, हरियाणा पुलिस ने राम रहीम की करीबी हनीप्रीत, डेरा प्रवक्ता आदित्य इंसा और पवन इंसा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। इससे पहले हनीप्रीत के वकील प्रदीप आर्या ने बताया है कि वह सोमवार को दिल्ली में उनके ऑफिस आई थी।

आतंकियों ने सरहद पार की तो जमीन में गाड़ देंगे: बिपिन रावत

पाकिस्तान की तरफ से 759 आतंकियों के घुसपैठ कराने की आशंका पर दी कड़ी प्रतिक्रिया

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय मंच और सीमा पर बार-बार मुंह की खाने के बावजूद आतंकवाद की पनाहगाह बन चुका पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। खूफिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सीमा पार नियंत्रण रेखा के नजदीक पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में लांचिंग पैड पर 759 आतंकी भारत में घुसपैठ के लिए तैयार बैठे हैं। इनमें से करीब 112 आतंकी उरी सेक्टर के पास सीमा पार कैंप कर रहे हैं।
पिछले साल उरी में आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना ने पीओके में दाखिल होकर कई आतंकी लांच पैड को नष्ट कर दिया था, जिसका बदला लेने के लिए पाकिस्तानी आतंकी फिर से बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। सेना प्रमुख बिपिन रावत का ने कहा कि सरहद के उस पार जो आतंकवादी हैं, वो तैयार बैठे हैं। हम भी उनके लिए इस तरफ तैयार बैठे है। जनरल रावत ने बेहद सख्त लहजे में चेतावनी दी कि अगर आतंकवादी इधर आएंगे, तो हम उनको रिसीव करके ढाई फीट जमीन के नीचे गाड़ देंगे।

Pin It