पुलिस मुठभेड़ में पांच बदमाश गिरफ्तार

खनन कारोबारी के बेटे को अगवा करने की फिराक में थे बदमाश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गाजीपुर क्षेत्र से खनन कारोबारी विजय गुप्ता के बेटे अंकित गुप्ता का अपहरण करने आये इण्डिका सवार पांच बदमाशों से रविवार देर रात राजधानी पुलिस की मुठभेड़ हो गयी, दोनों ओर से 12 से 14 राउण्ड फायरिंग हुई, जिसमें एक बदमाश गुड्डा को पैर में गोली लगी और वह घायल हो गया। घायल अवस्था में उसे ट्रामा सेन्टर में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने मौके पर पांचों बदमाशों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से एक रिवाल्वर, .315 बोर के पांच तमंचे व एक अपाचे मोटरसाइकिल कब्जे में ली है। पुलिस इसे बड़ी सफलता मान रही है।
इंस्पेक्टर गाजीपुर गिरजाशंकर त्रिपाठी के अनुसार बदमाशों की ओर से विजय गुप्ता को रंगदारी के लिए कई दिनों से धमकी मिल रही थी। बदमाश उनके बेटे अंकित को अगवा कर दो करोड़ रुपये फिरौती लेने की फिराक में थे। इस बीच अंकित ने पुलिस से संपर्क किया तो खनन कारोबारी और बदमाशों के फोन सर्विलांस पर लगा दिए गए। वहीं एसएसपी दीपक कुमार ने पुलिस टीम का गठन किया, जिसमें इंस्पेक्टर गाजीपुर गिरजा शंकर त्रिपाठी, इंस्पेक्टर पारा अजय त्रिपाठी व इंस्पेक्टर महानगर विकास कुमार पाण्डेय व अन्य पुलिसकर्मी शामिल हुए। सादे कपड़ों में पुलिस की टीम अंकित के आवास के आस-पास तैनात थी। इसी बीच एक इण्डिका कार बार-बार घर के पास चक्कर लगाते देखी गयी। पुलिस को शक हुआ तो इण्डिका कार को रोकने का प्रयास किया गया लेकिन कार सवार बदमाशों ने फायर झोंक दिया। पुलिस ने पोजीशन ले ली और दोनों तरफ से करीब 12 से 14 राउन्ड गोली चली, इस फायरिंग में एक बदमाश के पैर में गोली लगी। उसके बाद सभी बदमाश आत्मसमर्पण के लिए तैयार हो गये। पुलिस ने मौके से पांचों बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गये बदमाशों के नाम सनी सोनकर निवासी इलाहाबाद, विनोद शर्मा नैनी इलाहाबाद, गुड्डा निवासी नैनी इलाहाबाद, रवि निवासी बहराइच व विनोद रावत निवासी लखनऊ हैं। वहीं खनन कारोबारी अंकित गुप्ता मूलरूप से जालौन का रहने वाला है। वह ऑक्सफोर्ड से पत्रकारिता की पढ़ाई कर चुका है।

Pin It