डफरिन में बच्चे की मौत का मामला

जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहा स्वास्थ्य विभाग, परिजनों में आक्रोश

रिपोर्ट आने में लगेगा 45 दिन का समय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। 15 दिन पहले वीरागंना अवंतीबाई (डफरिन) अस्पताल में टीकाकरण के बाद शिशु की मौत पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। शिशु की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट न होने के बाद अब स्वास्थ्य विभाग की जांच टीम ने विसरा व कसौली से जांच रिपोर्ट आने के बाद ही कोई कदम उठाने का निर्णय लिया है, जांच रिपोर्ट आने में अभी 45 दिन का समय लगेगा। वहीं परिजन पोस्टमार्टम प्रक्रिया पर सवाल उठा चुके हैं। इस मामले पर डफरिन अस्पताल के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट भी दर्ज कराई जा चुकी है।
अस्पताल में टीकाकरण के कुछ देर बाद डेढ़ महीने की शिशु राधिका की मौत हो गयी थी। यह टीकाकरण डफरिन अस्पताल में हुआ था। स्वास्थ्य विभाग ने आनन-फानन में घटना की सत्यता जांचने के लिए जांच टीम बैठा दी। इसके अलावा टीकाकरण में प्रयोग हुई वैक्सीन को सील करके कसौली जांच के लिए भेज दिया गया, जबकि पहले स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक दावा कर रहे थे कि बच्ची की टीकाकरण से मौत नहीं हुई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी मौत का कारण स्पष्ट नही हुआ तो विसरा सुरक्षित करके जांच के लिए भेज दिया गया। जांच कमेटी ने माता-पिता के बयान भी दर्ज किये। टीकाकरण कार्यक्रम प्रभारी डा. एम के सिंह ने बताया कि विसरा भी सुरक्षित करके जांच के लिए भेजा गया है और वैक्सीन भी जांच के लिए कसौली लैब गयी है। जांच रिपोर्ट आने का इंतजार है।

Pin It