अभाविप की हार राजनैतिक बदलाव का संकेत: मायावती

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि देशभर में हो रहे छात्रसंघ चुनावों में आरएसएस से संबद्ध संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) की लगातार करारी हार देश में राजनीतिक बदलाव का शुभ संकेत है। जेएनयू, डीयू, राजस्थान, गुवाहाटी के बाद अब हैदराबाद विश्वविद्यालय के छात्रसंघ चुनाव में एबीवीपी को करारी हार मिली है। उन्होंने कहा कि हैदराबाद यूनिवर्सिटी में अभाविप की करारी शिकस्त और एएसजे (एलायंस फॉर सोशल जस्टिस) की शानदार जीत वास्तव में दलित स्कॉलर रोहित वेमुला को सच्ची श्रद्धांजलि है।
मायावती ने कहा कि बीजेपी नेताओं ने जनता को बरगला कर अपने अच्छे दिन बहुत देख लिए। अब भी बीजेपी सरकार को सबक लेना चाहिए कि वह दलित विरोधी हरकतों से बाज आ जाए, ताकि किसी और रोहित वेमुला को आत्महत्या के लिए मजबूर न होना पड़े। उन्होंने कहा कि मुट्ठी भर पूंजीपतियों और धन्ना सेठों को छोडक़र पूरे देश में आम लोग परेशान हैं। हर व्यक्ति महंगाई, बेरोजगारी, भय, भूख और भ्रष्टाचार से त्रस्त है। इसलिए आने वाले चुनावों में भाजपा को करारा जवाब मिलेगा।

Pin It