अवैध निर्माण में पुलिस की भूमिका संदिग्ध LDA सचिव ने SSP को लिखा पत्र

  • पुलिसकर्मियों की मिलीभगत की जांच कराने का उठाया मुद्दा
  • सांप्रदायिक तनाव का बहाना बनाकर अवैध निर्माण को बचाने में जुटी पुलिस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अमीनाबाद के अवैध निर्माण को लेकर स्थानीय पुलिस और एलडीए के बीच तनातनी हो गई है। अवैध निर्माण को सील करने के लिए एलडीए नेे अमीनाबाद थाने को पुलिस उपलब्ध कराने के लिए पत्र भेजा गया था, लेकिन थाने से पुलिस बल उपलब्ध नहीं कराया गया। उल्टा दो समुदायों के बीच तनाव का बहाना बना कर कार्रवाई में सहयोग से पल्ला झाड़ लिया। इस मामले पर सचिव एलडीए ने एसएसपी को पत्र लिख कर अवैध निर्माण में पुलिस की संलिप्ता की जांच कराने की बात कही है।
लखनऊ विकास प्राधिकरण ने अमीनाबाद में रोड पर मस्जिद के निकट बन रहे अवैध निर्माण को सील करने के लिए स्थानीय पुलिस की मांग की थी। इस पर अमीनाबाद थाने के उपनिरीक्षक राम नारायण की ओर से सचिव को पत्र लिखा गया कि अवैध निर्माण का मामला दो समुदायों के मध्य का है इसलिए साम्प्रदायिक तनाव पैदा हो सकता है। मोहर्रम व दुर्गा पूजा का त्यौहार नजदीक है। निर्माण सील होने की दशा में दोनों समुदायों के मध्य तनाव बढ़ सकता है। पुलिस की ओर से भेजे गए इस पत्र के बाद एलडीए अफसरों में हडक़ंप मचा गया। एलडीए सचिव जयशंकर दुबे ने मामले में अमीनाबाद थाने की मिलीभगत के अंदेशे से एसएसपी दीपक कुमार को पत्र लिखकर अवगत कराया है। साथ ही अवैध निर्माण में पुलिस की संलिप्तता की जांच करने की मांग की गई है। एलडीए के अफसरों का साफ कहना है कि इस मामले में पुलिस की मिलीभगत है। यहीं करण है कि पुलिस अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई में सहयोग की जगह सांप्रदायिक तनाव का डर दिखा रही है। वहीं क्षेत्र में धड़ल्ले से अवैध निर्माण जारी है।

Pin It