भाजपा कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के विरोध में धरने पर बैठे सांसद व विधायक

पुलिस पर लगाया उत्पीडऩ का आरोप, एपीएन कॉलेज में विवाद के बाद हुई थी गिरफ्तारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भाजपा कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के विरोध में मंगलवार को सैकड़ों समर्थकों के साथ सांसद हरीश द्विवेदी और विधायक संजय जायसवाल बस्ती के कोतवाली गेट पर धरना देने पर अड़ गए। कार्यकर्ताओं के आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने कोतवाली परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया। कई थानों की फोर्स बुला ली गई। वहीं दूसरी ओर सांसद और विधायक ने पुलिस पर भाजपा कार्यकर्ताओं के उत्पीडऩ का आरोप लगाते हुए धरना जारी रखा और गिरफ्तार किए गए कार्यकर्ताओं को छोडऩे की मांग की।
गत 9 सितंबर को एपीएन पीजी कॉलेज में छात्र नेताओं और प्राचार्य के बीच एडमिशन को लेकर विवाद हो गया था। इस दौरान छात्रनेताओं ने प्राचार्य को बंधक बना लिया था। इसके बाद पुलिस ने कॉलेज के पूर्व अध्यक्ष कबीर तिवारी समेत दो को हिरासत में ले लिया था। इससे नाराज भाजपा नेता प्रमोद पांडेय और पुष्कर मिश्र काफी लोगों के साथ कोतवाली घुस गए थे और पुलिस पर हमला करते हुए आरोपी छात्र नेताओं को जबरन छुड़ा लिया था। प्रमोद पांडेय सांसद हरीश द्विवेदी के करीबी माने जाते हैं। इस मामले एसपी ने 21 के खिलाफ नामजद और 180 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया था और 6 एसआई को सस्पेंड कर दिया था। मंगलवार को भाजपा नेता प्रमोद पांडेय ने कोर्ट में समर्पण के लिए अर्जी दी , लेकिन थाने की रिपोर्ट नहीं होने के कारण कोर्ट ने इसे स्वीकार नहीं किया और रिपोर्ट तलब की। इसके बाद जैसे ही प्रमोद पांडेय कोर्ट से बाहर निकले पुलिस ने उन्हें कस्टडी में ले लिया। सूचना पर सांसद हरीश द्विवेदी, रुधौली विधायक संजय जायसवाल, जिलाध्यक्ष पवन कसौधन, विधायक अजय सिंह के नेतृत्व मं सैकड़ों कार्यकर्ता कोतवाली पहुंच कर धरने पर बैठ गए।

Pin It