अभी से लोकसभा चुनाव का ताना-बाना बुन रहे पीएम मोदी, विरोधियों को बनारस से देंगे जवाब

संसदीय क्षेत्र वाराणसी से पूर्वांचल को साधने की करेंगे कोशिश, लोकसभा उपचुनाव पर भी नजर
प्रधानमंत्री पर विपक्ष लगा चुका है संसदीय क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप
22 सितंबर को शहर की सूरत संवारने के लिए करोड़ों की परियोजनाओं का करेंगे शिलान्यास

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अभी से लोकसभा चुनाव का ताना-बाना बुनने में जुट गए हैं। इसके लिए उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को चुना है। वे इसी माह वाराणसी को कई सौगातें देंगे। इसके जरिए वे विरोधियों के उन आरोपों का जवाब भी देंगे, जिसमें कहा गया था कि प्रधानमंत्री अपने संसदीय क्षेत्र की लगातार उपेक्षा कर रहे हैं। माना यह जा रहा है कि वाराणसी से वे पूर्वांचल को एक बार फिर साधने की कोशिश करेंगे। इसके अलावा उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव पर भी पीएम मोदी की नजर है।
पीएम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिले इशारे के बाद भाजपा लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। वह चुनावी रणनीति बना रही है। इसी क्रम में मोदी भी पहल करने जा रहे हैं। वाराणसी सीट से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सांसद हैं मगर उनके ऊपर विरोधी हमेशा यह आरोप लगते रहे हैं कि उन्होंने बनारस के लिए कुछ नहीं किया। विरोधियों ने इस मुद्दे पर कई बार प्रधानमंत्री पर निशाना भी साधा है। विरोधियों के आरोपों को निराधार साबित करने के लिए पीएम मोदी अब बनारस का कायाकल्प करने में जुट गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 22 सितंबर को अपने संसदीय क्षेत्र के दो दिनी दौरे पर पहुंच रहे हैं। इस दौरान वे वाराणसी को कई योजनाओं की सौगात देंगे। प्रधानमंत्री सामने घाट व बलुआ घाट पक्का पुल, ट्रेड फेसिलिटेशन सेंटर समेत 16 परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे। इन परियोजनाओं पर 483.14 करोड़ खर्च हुए हैं। प्रधानमंत्री रमना एसटीपी समेत सात परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे। इस पर कुल 360.53 करोड़ रुपये की लागत प्रस्तावित है। इस बीच वे जरूरतमंदों को पीएम आवास के तहत प्रमाणपत्र भी वितरित करेंगे। मोदी डीरेका में एक भव्य कार्यक्रम के दौरान नगरीय व ग्रामीण क्षेत्र के 17 हजार चयनित लाभार्थियों को आवास का स्वीकृति प्रमाण पत्र वितरित करेंगे। गौरतलब है कि केंद्र की ओर से तीन साल में पहली बार गरीबों व जरूरतमंदों के लिए आवास को लेकर तोहफा दिया जाएगा। हालांकि अभी भी पीएम आवास (शहरी) में एक भी आवास की नींव नहीं रखी गई है। प्रशासन अभी सिर्फ लाभार्थियों के चयन की तैयारी को अंतिम रूप दे रहा है। योजना में लाभार्थी की स्वयं की जमीन पर सरकार केवल आवास निर्माण के लिए सब्सिडी के तौर पर ढाई लाख रुपये प्रदान करेगी। दूसरी ओर पीएम आवास ग्रामीण योजना में भी लाभार्थियों का चयन हो गया है। इस योजना के तहत अधिकांश लाभार्थियों के खाते में धनराशि की प्रथम किश्त पहुंच गई है, लेकिन बालू, गिट्टी की किल्लत की वजह से बहुतों ने निर्माण शुरू नहीं कराया है। लोग दीवार खींचने व छत डालने को लेकर अगली किस्त के इंतजार में हैं।

इनका होगा लोकार्पण

पीएम मोदी ट्रेड फेसिलिटेशन सेंटर, बड़ालालपुर, सामनेघाट स्थित गंगा पुल, बलुआघाट गंगा पुल, कज्जाकपुरा, गरथौली विद्युत उपकेंद्र, उत्कर्ष बैंक मुख्यालय, मालवीय एथिक्स सेंटर, बीएचयू, डी सेंट्रलाइज्ड वेस्ट टू एनर्जी एसटीपी, दुर्गाकुंड व लक्ष्मीकुंड सुंदरीकरण, सीएचसी आराजीलाइन में 30 बेड मैटरनिटी विंग, चोलापुर थाने में अस्सी व्यक्तियों हेतु बैरक, बुद्धा थीम पार्क, सारनाथ, सारंगनाथ तालाब, सुंदरीकरण, गुरुधाम मंदिर में विकास कार्य, मार्कंडेय महादेव और कैथी में गंगा घाट का विकास योजना का लोकापर्ण करेंगे।

5000 किसानों को मिलेगा ऋण माफी का प्रमाण पत्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच हजार किसानों को ऋ ण माफी का प्रमाण पत्र भी देंगे। इसमें 1804 किसान पहले से ही चयनित हैं जो कुछ कारणों से प्रमाण पत्र प्राप्त नहीं कर सके थे। शेष नए किसान होंगे जिनकी राशि इस योजना में माफ की गई है।

इनका होगा शिलान्यास

अमृत योजना में 7 पार्कों का सुंदरीकरण, नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत गृह जल संयोजन का कार्य, अन्न क्षेत्र काशी विश्वनाथ मंदिर, रमना एसटीपी (नमामि गंगे योजना और नगर निगम क्षेत्र सीवर संयोजन कार्य)।

Pin It