निष्क्रिय पदाधिकारियों की होगी कांग्रेस से छुट्टी

लखनऊ। संगठनात्मक चुनाव में कांग्रेस निष्क्रिय पदाधिकारियों की छट्ुटी करने की तैयारी में है। करीब 80 प्रतिशत नए चेहरों को संगठन में लगाने की रणनीति तैयार की गयी है। मुख्य संगठन के अलावा फ्रंटल संगठनों में भी बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा।
दरअसल पार्टी में चुनाव प्राधिकरण के सदस्य भुवनेश्वर कलिता ने पिछले सप्ताह चुनाव समीक्षा बैठक में ब्लाक से लेकर प्रदेश तक नए चेहरों व सक्रिय कार्यकर्ताओं को तरजीह के संकेत दिए थे। उसी आधार पर निष्क्रिय कार्यकर्ताओं की पार्टी से छुट्टी करने और नये कार्यकर्ताओं को पार्टी में जगह देने की प्रक्रिया तेज कर दी गई है। सक्रिय और युवा नेताओं की सूची तैयार की जा रही है। इसी सूची में बेहतर प्रदर्शन करने वालों को पार्टी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपेगी। सूत्रों का कहना है कि पद बंटवारे में सिफारिश करने वालों को सूचीबद्ध करने के भी निर्देश है। पदों में बंदरबांट न होने पाए इसीलिए बाहरी चुनाव अधिकारियों को ही जिम्मेदारी सौंपी है। जिन क्षेत्रों में ब्लाक व बूथ कमेटियों के गठन का काम अधूरा है, वहां चुनाव अधिकारी बदले जाएंगे। हर हाल में 25 सितंबर तक जिला कमेटियों का गठन कर लिया जायेगा।

महंगाई पर प्रदर्शन
कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के दामों में वृद्धि के विरोध में विधानसभा के समक्ष प्रदर्शन किया। जिला और शहर अध्यक्षों ने राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा। इसके अलावा रविवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने टैक्स फ्री पेट्रोल और डीजल बेचकर विरोध जताया था। प्रदेश सचिव शैलेंद्र तिवारी बब्लू ने बताया कि विधानसभा के सामने 30 लीटर पेट्रोल व 20 लीटर डीजल बिना किसी टैक्स के बेचा गया। यह सांकेतिक विरोध जताने वालों में कोणार्क दीक्षित, अभिषेक, प्रमोद व बंटी शमिल थे।

Pin It