सरकार की जनविरोधी नीति के चलते संकट में है खेती: नरेश उत्तम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने भाजपा सरकार पर गंभीर आरोप लगाये हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की जनविरोधी नीतियों के चलते किसान बदहाल और खेती संकट में है। कृषि अर्थव्यवस्था बुरी तरह से उसकी शिकार हो रही है। पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा बढ़ोत्तरी से रोजमर्रा की चीजों के दाम आकाश छूने लगे हैं। इन दिनों विश्व बाजार में पेट्रोल के दाम 54 डालर प्रति बैरल है जबकि बाजार में पेट्रोल 72 रूपए 30 पैसे प्रति लीटर और डीजल 58 रूपए बिक रहा है।
नरेश उत्तम ने कहा कि जब विश्व बाजार में पेट्रोल-डीजल के दाम कम हैं तो भी भाजपा सरकार ईंधन के दाम बढ़ाकर मुनाफा कमाने के धंधे में लगी है। इससे खेती की लागत बढ़ती जा रही है। धान के लिए डीजल से सिंचाई काफी महंगी हो गई है। वैसे भी आशंका है कि इस बार धान का उत्पादन कम होगा। प्रदेश अध्यक्ष का यह भी कहना है कि पेट्रोल पर इस समय 34 रूपए प्रति लीटर से ज्यादा टैक्स आ रहा है। पहली जुलाई से अभी तक पेट्रोल-डीजल के दाम 18 बार बदले हैं। इस समय पेट्रोल की कीमत पिछले एक दशक के शीर्ष स्तर पर पहुंच चुकी है। केन्द्र सरकार एक्साइज टैक्स में कमी करने के बजाय वर्ष 2014 से पौने तीन लाख करोड़ रूपए का ज्यादा टैक्स लादकर अपनी तिजोरियां जनता की परेशानियों की कीमत पर भरती जा रही है। केंद्र की नकल पर राज्य सरकार भी लोकल टैक्स बढ़ाकर जनता की जेब काटने में सहयोगी बन जाती है।

Pin It