बबूल के पेड़ से आम की उम्मीद नहीं: अखिलेश

किसानों की समस्याएं बरकरार, कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ सरकार कर रही है मजाक
सरकार में बैठे लोगों को प्रसाद देकर एमएलसी भी तोडऩे की आती है कला
नाव पलटने से 22 लोगों की मौत पर अखिलेश ने जताया दुख, कहा सरकार करें मदद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्टï्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि हमने और आप सबने मिलकर एक्सप्रेस वे का उद्घाटन किया था। जनता को मालूम है कि आगरा एक्सप्रेस वे का निर्माण किसकी सरकार में हुआ था। बार-बार उद्घाटन करने से हकीकत नहीं बदलेगी। मैंने तो विधानसभा में पहले ही कहा था कि यह विकास रोकने वाला बजट है और यह साबित भी हो रहा है क्योंकि अभी तक सरकार ने एक भी योजना शुरु नहीं की है। जाहिर है बबूल के पेड़ से आम की उम्मीद नहीं की जा सकती।
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज हिंदी दिवस के मौके पर सपा कार्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में यह बातें कही। उन्होंने कहा कि सरकार के कार्यों का मूल्यांकन जनता कर रही है। नौजवान जरूर परिवर्तन लाएंगे। किसानों की कर्ज माफी को लेकर अखिलेश ने कहा कि चुनाव के समय पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि प्रदेश में उनकी सरकार आती है तो किसानों का पूरा कर्ज माफ किया जाएगा, लेकिन सरकार जिस तरह किसानों को चेक दे रही है, वह निराशाजनक है। किसानों के साथ मजाक किया जा रहा है। किसानों को जितने का चेक दिए जा रहा है उससे ज्यादा खर्च तो अधिकारियों के खाने-पीने और रहने में खर्च हो रहा होगा। सरकार पर निशाना साधते हुए अखिलेश ने कहा कि टीवी पर देखने को मिलता है कि हमारे पीएम दूसरे देश के प्रधानमंत्रियों के साथ नदी के किनारे बैठे नजर आते हैं। हमारी सरकार ने गोमती नदी को सुंदर बनाने का काम किया, लेकिन अखबारों में तस्वीरें देखिए लोग नदी के किनारे क्या कर रहे हैं। बुलेट ट्रेन के उद्घाटन पर उन्होंने कहा कि सबसे अधिक लोग कोलकाता और दिल्ली के बीच रहते हैं। दिल्ली और कोलकाता के बीच बुलेट ट्रेन चले तो बेहतर होगा। बागपत में नाव पलटने से 22 लोगों की हुई मौत पर अखिलेश ने दुख व्यक्त किया। इस मौके पर अखिलेश यादव ने चार पुस्तकों का विमोचन किया, जिसमें ओमवीर सिंह तोमर की ‘मन का पंछी यादों के पिंजरे में’ तथा दीन मोहम्मद दीन की तीन पुस्तकें ‘दीन के दोहे त्राहिमाम यह कैसी आजादी’ का विमोचन किया।

बुलेट ट्रेन का हुआ शिलान्यास, पीएम मोदी ने कहा यह प्रोजेक्ट रोजगार

के साथ व्यापार भी लाएगा 1 लाख करोड़ रुपए का है बुलेट ट्रेन का प्रोजेक्ट
इस प्रोजेक्ट को निर्धारित समय से एक साल पहले यानी 2022 में पूरा करने की हो रही है बात

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने अहमदाबाद में देश की पहली बुलेट ट्रेन का शिलान्यास किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि सपनों का विस्तार ही किसी भी देश को आगे बढ़ाता है, ये न्यू इंडिया है। हमारा मकसद है इस तकनीक को भरपूर प्रयोग करते हुए इसे देश के गरीबों के जीवन से जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि इस प्रॉजेक्ट से रेलवे को फायदा होगा, रेलवे के नेटवर्क को नएपन की ओर जाना होगा। इस प्रोजेक्ट से मेक इन इंडिया को भी मजबूती मिलेगी। यह प्रोजेक्ट रोजगार भी लाएगा और व्यापार भी लाएगा। आज का दिन भारत और जापान के लिए ऐतिहासिक और भावनात्मक है।
पीएम मोदी ने कहा कि भारत और जापान की दोस्ती सीमा और समय से परे है। अगर आज इतने कम समय में इस योजना का भूमिपूजन हो रहा है तो इसका पूरा श्रेय शिंजो आबे को जाता है। मानव सभ्यता का इतिहास यातायात से जुड़ा हुआ है। किसी भी देश के विकास में यातायात एक महत्वपूर्ण योगदान देती है। जो लोग अमेरिका के इतिहास को जानते हैं उन्हें पता है कि रेलवे आ जाने के बाद कैसे वहां आर्थिक प्रगति शुरू हुई। यूरोप से लेकर चीन तक हाई स्पीड रेल न सिर्फ आर्थिक, बल्कि सामाजिक परिवर्तन में एक अहम भूमिका निभा रही है। जापान में भी बुलेट ट्रेन ने अर्थव्यवस्था को बदल कर रख दिया।
इस मौके पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने अपने भाषण की शुरुआत नमस्कार से की। उन्होंने कहा कि भारत के नए अध्याय की शुरुआत से खुशी हो रही है। भारत अगर ताकतवर होता है, तो यह जापान के हित में है। हम पीएम मोदी की नीतियों का पूरा समर्थन करते हैं। बुलेट ट्रेन की तकनीक जापान की है लेकिन संसाधन भारत से ही जुटाए जाएंगे। शिंजो आबे ने कहा कि भारत और जापान की दोस्ती सिर्फ द्विपक्षीय नहीं है, यह विश्व व्यवस्था की है। आबे ने कहा कि जापान में बुलेट ट्रेन से कोई हादसा नहीं होता है, एक दिन पूरे भारत में बुलेट ट्रेन दौड़ेगी। जापान की बुलेट ट्रेन पूरी दुनिया में सबसे सुरक्षित बुलेट ट्रेन सेवा है। मोदी की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि वह एक दूरदर्शी नेता हैं, मैंने खुद इस प्रोजेक्ट में रुचि ली है। जापान से 100 से अधिक इंजीनियर भारत में आए हुए हैं। मोदी की नीतियों का पूरा समर्थन करता हूं।

बागपत में नाव पलटने से 22 लोगों की मौत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख मुआवजे का किया ऐलान
गुस्साए लोगों ने किया पथराव

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बागपत के यमुना नदी में 60 लोगों को ले जा रही नाव आज पलट गई। नाव पलटने से 22 लोगों की मौत हो गई। सूचना पर पुलिस पहुंची और बचाव कार्य शुरू कर दिया। करीब 12 लोगों की हालत गंभीर थी उन्हें नजदीकी अस्पताल ले जाया गया है। ंप्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार नाव में शायद क्षमता से अधिक लोग थे इसलिए यह हादसा हुआ। घटना की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे में मरने वालों के परिजनों के लिए दो लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है।
घटना के बाद पुलिस और प्रशासनिक अफसरों के देर से पहुंचने से गुस्साए स्थानीय ग्रामीणों ने दिल्ली राजमार्ग जाम कर दिया। मौके पर मौजूद जिलाधिकारी भवानी सिंह ने बताया कि नाव में क्षमता से अधिक करीब 60 यात्री सवार थे। इनमें अधिकांश महिलाएं थीं। नाव जैसे ही बीच नदी में पहुंची, अचानक डूब गयी।
जिलाधिकारी भवानी सिंह के अनुसार पुलिस और पीएसी की बचाव दल की टीमों ने अभी तक 22 शव निकाले है, जबकि करीब एक दर्जन लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया है। उन्होंने बताया कि नाव में सवार अधिकांश लोग बागपत से हरियाणा में मजदूरी करने जा रहे थे। इलाके की पुलिस के अनुसार नाव की क्षमता 15-यात्रियों की थी, लेकिन उसमें करीब 60 यात्री सवार थे।

Pin It