जिन श्रीधरन ने मेट्रो बनाने में निभाई सबसे बड़ी भूमिका, उद्ïघाटन में उन्हें ही कर दिया पीछे, सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रिया

उद्ïघाटन के समय पद्ïमश्री श्रीधरन को पीछे खड़े करने पर सोशल मीडिया में तीखी प्रतिक्रिया
पीछे खड़े श्रीधरन और दूसरे फोटो में उनका हाथ थामे अखिलेश की फोटो हुई वायरल

6 Sep PAGE- 8 RevFinal1

लखनऊ। मेट्रो के उद्ïघाटन पर आईं तस्वीरों ने सोशल मीडिया पर हंगामा मचा दिया। ट्विटर और फेसबुक पर लोगों ने तीखी टिप्पणियां कीं और कहा कि पद्ïम श्री मेट्रोमैन के साथ यह व्यवहार बेहद दुखद है। देखते ही देखते देशभर में इन तस्वीरों पर चर्चाएं शुरू हो गईं।
दरअसल कल मेट्रो का उद्ïघाटन देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह को करना था। उनके साथ राज्यपाल राम नाईक के अलावा सीएम योगी भी थे। इस बीच कई कैबिनेट मंत्री भी मंच पर पहुंच गए और इस बात की कोशिश करने लगे कि उद्ïघाटन करते हुए फ्रेम में उनकी भी फोटो आ जाए।
इस आपाधापी में किसी को भी यह होश नहीं रहा कि जिस मेट्रो का वह उद्ïघाटन कर रहे हैं और जिस शख्स ने देश में सबसे तेजी के साथ लखनऊ में मेट्रो बना दी उन श्रीधरन को भी अपने साथ मंच पर खड़ा करना चाहिए था। यह चूक लोगों के बीच आलोचना का विषय बन गई।
वहीं कुछ लोगों ने पूर्व सीएम अखिलेश यादव के वह फोटो भी लगाने शुरू कर दिए, जिसमें श्रीधरन का हाथ अखिलेश यादव थामे हुए हैं। लोग दोनों की तुलना करने लगे और अखिलेश यादव की तारीफों में जुट गए। जाहिर है यह सरकार के लिए बेहद असहज करने वाला मामला है।

पत्रकार गौरी की हत्या का ट्विटर पर समर्थन कर रहे लोगों को लेकर हंगामा

इन उत्तेजित बयानों को देने वाले कुछ लोग पीएम मोदी को करते हैं फॉलो, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने साधा निशाना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पत्रकार गौरी की हत्या पर एक ओर जहां पूरी दुनिया में लोग स्तब्ध हैं वहीं कुछ मानसिक रुप से दिवालिया लोग ट्विटर पर इस पत्रकार के विषय पर बेहद आपत्तिजनक बातें लिखकर इस हत्या को जायज ठहरा रहे हैं। जैसे ही यह पता चला कि इनमें से कुछ लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फॉलो करते हैं तो इस घटना के राजनीतिक अर्थ भी निकाले जाने लगे। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि ये उग्र विचारधारा वाले लोगों ने सोचसमझकर हत्या की है क्योंकि ये लोग लोकतंत्र के विरोधी हैं। आम आदमी पार्टी ने भी इसकी तीखी आलोचना की है।
पत्रकार गौरी की हत्या का विरोध देशभर में हो रहा है। देश के कई राज्यों से इस विरोध की खबरें आ रही हैं। इस बीच कुछ लोग बेशर्मी भरे टिï्वट भी कर रहे हैं। पीएम मोदी को फॉलो करने वाले निखिल ने पत्रकार की तुलना एक जानवर से करते हुए कहा कि सारे पिल्ले एक सुर में बिलबिला रहे हैं। संजय मिश्रा ने गाली देते हुए लिखा कि ये औरत नक्सल समर्थक, हिंदू धर्म के खिलाफ और मोदी और संघ के खिलाफ थी। यही नहीं आगे लिखा कि इस वामपंथी औरत की जगह रवीश कुमार या दिलीप मंडल को मारा जाता तो दस गुना मजा आता।
इन ट्विट्स ने देश भर में सनसनी फैला दी। आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता संजय सिंह ने गौरी लंकेश की हत्या पर इन ट्विट्स का स्क्रीट शॉट लगाते हुए कहा कि टीवी वालों जागो कल ये तुम्हारे साथ भी हो सकता है। आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश के प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने कहा कि इस हत्या के विरोध में आज आप कार्यकर्ता कैंडिल मार्च निकालेंगे और गांधी प्रतिमा पर प्रोटेस्ट करेंगे।
मीडिया जगत के कई दिग्गजों ने इस हत्याकांड की तीखी आलोचना करते हुए कहा है कि मीडिया की आजादी पर हमला एक गंभीर और चिंताजनक बात है।

कभी खुशी तो कभी गम दिया मेट्रो के सफर ने, लोगों ने साझा किए अनुभव

मेट्रो को लेकर जनता में नजर आया उत्साह
कोई परिवार के साथ मेट्रो का सफर करने पहुंचा तो कोई आफिस व स्कूल के लिए निकला

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी की जनता में मेट्रो के सफर को लेकर काफी उत्साह नजर आ रहा है। पहले ही दिन मेट्रो में तकनीकी खराबी आने और करीब 45 मिनट तक मेट्रो का संचालन बाधित होने के बाद भी स्टेशन पर लोगों की भीड़ जुट रही है। इस दौरान मेट्रो का सफर पहली बार करने वालों ने अपने खट्टे मीठे अनुभवों को साझा किया और मेट्रो में बैठकर यादगार सेल्फी भी ली।
मेट्रो में पहली बार सफर करने के लिए अपनी बेटी के साथ चारबाग पहुंचे आमिर ने बताया कि उन्होंने चारबाग से श्रृंगार नगर तक की यात्रा के लिए टिकट लिया है। वह मेट्रो में चलने को लेकर काफी उत्साहित हैं।
लखनऊ मेट्रो में पहली बार सफर करने के लिए आए अरुण श्रीवास्तव और उनकी पत्नी शालिनी श्रीवास्तव ने बताया कि वह मेट्रो में सिर्फ घूमने और सफर करने के लिए आए हैं। चारबाग मेट्रो स्टेशन से केकेवी कॉलेज के छात्र रवि व उनके साथियों ने बताया कि लखनऊ में मेट्रो पहली बार चल रही है जिसमें सफर करने के लिए हम लोग आए हैं। चारबाग से मेट्रो में सवार होकर अपने कार्यालय जा रही पूनम ने कहा कि सरकार ने मेट्रो चलाकर बहुत ही अच्छा काम किया है , इससे हम लोगों को काफी सुविधा होगी। सुबोध अवस्थी जोकि चारबाग से ट्रांसपोर्ट नगर अपने काम से जा रहे थे उनका कहना है कि मेट्रो का साधन तो बहुत ही अच्छा है और इससे समय भी कम लगता है। अपने परिवार के साथ मेट्रो में सफर करने के लिए आए एजाजुल हसन ने बताया कि राजधानी में मेट्रो पहली बार शुरू हुई है। इसलिए वे लोग सिर्फ घूमने आये हैं। वहीं अपने बच्चों को साथ में लेकर मेट्रो का सफर कर रहे आनंद उपाध्याय ने बताया कि राजधानी में मेट्रो चलने लगी है। इसलिए वह परिवार के साथ मेट्रो में सफर का आनंद लेने आये हैं। मेट्रो में यात्रा करने के लिए राजाजीपुरम से चारबाग पहुंचे अनुज पांडे ने बताया कि वह अपने दोस्तों के साथ यहां घूमने के लिए आए हैं। इसके अलावा त्रिलोचन सिंह सिटी मेट्रो में सफर करने के लिए अपने बेटे के साथ पहुंचे थे। इसी तरह शरद कुमार मेट्रो के संचालन को जाम से मुक्ति में सहायक बताया है।

गोरखपुर में 24 घंटे में दस और बच्चों की मौत

लखनऊ। गोरखपुर के बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज में पिछले 24 घंटों में 10 और बच्चों की मृत्यु हो गई। यहां स्वास्थ्य विभाग और सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद इंसेफेलाइटिस पीडि़त बच्चों की मौतों पर लगाम नहीं लग पा रही है। वहीं जनता में इंसेफेलाइटिस को लेकर भय का माहौल बना हुआ है।
मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. पी.के. सिंह ने बताया कि पीडियाट्रिक वार्ड के एनआईसीयू में 17 बच्चे तथा पीआईसीयू (जनरल पीडिया वार्ड) में 32 बच्चे भर्ती किए गए हैं। इस अवधि तक एनआईसीयू में कुल 118 एवं पीआईसीयू में 214 बच्चे भर्ती हैं। कुल भर्ती 332 बच्चों में से 10 बच्चों की मौत हो गई, जिसमें एक बच्चा इंसेफेलाइटिस का भी शामिल है, जबकि अन्य बच्चे दूसरी बीमारियों से पीडि़त थे।
उन्होंने बताया कि जेई एवं एईएस के 13 नए मरीज इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज में भर्ती किए गए हैं। वहीं कुल मृत 10 बच्चों में से एक बच्चे की मौत एईएस से हुई है। मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल सिंह ने बताया कि विभिन्न वार्डों में तीन सितंबर को नौ बच्चों की मौत हुई जबकि चार सितंबर को 15 अन्य बच्चों की मृत्यु हुई। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही मेडिकल कॉलेज में इस वर्ष मरने वाले बच्चों की संख्या बढक़र 1351 हो गई। उन्होंने बताया कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में सुविधाओं को सुधारने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार ने 24 नए ‘वार्मर’ मुहैया कराए हैं जो नवजात शिशुओं के लिए उपयोग में आते हैं।

Pin It