समाज की संकीर्णता को दूर करते हैं पर्व: सीएम योगी

मुख्यमंत्री ने गणेश महोत्सव में भगवान गणपति को बताया प्रेरणास्रोत

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सनातन हिन्दू धर्म में सर्वप्रथम गणपति की पूजा की परम्परा है। वे हमारे प्रेरणा के स्रोत हैं। गणपति महोत्सव की शुरुआत महाराष्टï्र में लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने की थी। पर्व और त्योहार सिर्फ आस्था के प्रतीक नहीं होते, बल्कि समाज में फैली संकीर्णता को भी दूर करते हैं। वे राष्ट्रीय चेतना को भी जागृत करते हैं। जिस राष्ट्र की चेतना जागृत होती है, उसे कोई शक्ति हिला नहीं सकती। मुख्यमंत्री ने यह विचार झूलेलाल पार्क में गणेश प्राकट्य कमेटी द्वारा आयोजित गणेश महोत्सव में व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि कमेटी द्वारा गणेश महोत्सव की शुरुआत 12 वर्ष पूर्व की गई थी। पिछले कई वर्षों से स्थान परिवर्तन के प्रयास किए जा रहे थे, परन्तु तत्कालीन सरकारों की उपेक्षा के कारण कमेटी को सफलता नहीं मिली थी। वर्तमान सरकार के आने के बाद यह आयोजन झूलेलाल वाटिका में सम्भव हो सका है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रकृति के निकट होने के कारण अनादिकाल से गणेश जी जन-जन के आराध्य रहे हैं। सीएम योगी ने कहा कि महाराष्ट्र सहित देश के कई क्षेत्रों में गणेश चतुर्थी के अवसर पर उनकी प्रतिमा स्थापित किए जाने की परम्परा रही है।

Pin It