अधिक फीस वसूल करने वाले निजी मेडिकल व डेंटल कॉलेजों पर कार्रवाई शुरू

कई कॉलेजों को भेजा गया नोटिस, हिन्द मेडिकल कॉलेज के चेयरपर्सन सहित कई पर मुकदमा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अधिक फीस वसूली को लेकर चिकित्सा शिक्षा प्रशासन ने राजधानी के कई प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों व डेंटल कॉलेजों को नोटिस भेजा है। कुछ और मेडिकल कॉलेज व डेंटल कॉलेज प्रशासन रडार पर है, जिनके खिलाफ विभाग में दर्जनों शिकायतें आई हंै। ऐसे कॉलेजों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई होने वाली है। चिकित्सा शिक्षा प्रशासन ने हिन्द इंंस्टीट्यूट के चेयरपर्सन समेत तीन पर मुकदमा दर्ज कराया है।
बाराबंकी हिन्द इंस्टीट्यूट की चेयरपर्सन ऋचा मिश्रा, प्रिंसिपल जेबी सिंह व प्रवेश समन्यव्यक वन्दना वैश्य व अन्य कई के खिलाफ सोमवार को शहर कोतवाली में धोखाधड़ी, अमानत में खयानत जैसी धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच के लिए आयकर विभाग की टीम को भी बुलाया गया है। लखनऊ-फैजाबाद हाईवे पर सफेदाबाद में स्थित मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने फीस के नाम पर लाखों रुपये की वसूली करने व रसीद न देने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिकायत की थी। जिसके बाद शासन व जिला प्रशासन सक्रिय हुआ। देर रात तक सीडीओ अंजनी कुमार सिंह, एसडीएम सुशील प्रताप सिंह, एएसपी दिगंबर कुशवाहा समेत तमाम अधिकारी कॉलेज में ही डटे रहे। आयकर विभाग की टीम को भी जांच के लिए बुलाया गया। मेडिकल के छात्रों ने शिकायत की है कि कॉलेज की वेबसाइट पर साफ आठ लाख रुपये फीस होने की बात लिखी गयी थी। इसके बाद भी कॉलेज प्रशासन के लोग 20.8 लाख फीस मांग रहे हैं। कॉलेज प्रशासन तर्क दे रहा है कि 26 जुलाई 2017 को आए आदेश के तहत यह फीस मांगी जा रही है। सीएम से शिकायत के बाद विशेष सचिव स्वास्थ्य के निर्देश पर स्वास्थ्य महानिदेशालय की भी एक टीम शाम को मेडिकल कॉलेज पहुंच गई। शहर कोतवाल उमेश बहादुर सिंह ने बताया कि बिहार के गोपालगंज निवासी छात्र मो. यामून समेत करीब एक दर्जन छात्रों की शिकायत पर धारा 406, 419, 420 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई है। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा अनीता भटनागर जैन ने कहा कि एडमिशन में अधिक फीस की जानकारी के बाद फोन और ई-मेल हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए थे। इन पर शिकायतों के मिलने के बाद संबंधित मेरठ के कई मेडिकल कॉलेजों के प्रबंधकों को नोटिस भेजकर जवाब मांगा गया है।

Pin It