अब होगा माध्यमिक विद्यालयों का मूल्यांकन

डीआईओएस और एडीआईओएस को जांचने होंगे हर महीने 10 विद्यालय

4पीएम न्यूज नेटवर्क
लखनऊ। राजकीय तथा सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर काम शुरू कर दिया गया है। इसके लिए प्रथम चरण में सितंबर तक सभी माध्यमिक विद्यालयों का श्रेणीकरण किया जाएगा। श्रेणीकरण के तहत प्रत्येक जिला विद्यालय निरीक्षक एवं सह जिला विद्यालय निरीक्षकों को हर महीने 10-10 विद्यालयों का निरीक्षण करना अनिवार्य होगा। वहीं संयुक्त शिक्षा निदेशक एवं उप शिक्षा निदेशक को मंडल के 10 विद्यालय जांचेंगे होंगे। इस संबंध में माध्यमिकशिक्षा निदेशालय से जेडी, डीडीआर और डीआईओएस को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।
दरअसल, राज्य सरकार ने राजकीय एवं सहायता प्राप्त विद्यालयों में ग्रेडिंग सिस्टम शुरू करने का निर्णय लिया है। इसके तहत विद्यालयों के मानको की जांच होगी।

छात्रों की बनेगी स्कूल डायरी
सरकारी व सहायता प्राप्त विद्यालयों में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं की एक स्कूल डायरी अनिवार्य रूप से बनाई जाएगी, जिसमें छात्र-छात्रा एवं माता-पिता का नाम, संपर्क नंबर, पाठ्यक्रम आदि विवरण अनिवार्य रूप से रहेगा।

Pin It