सिटी ब्रीफ

स्वाइन फ्लू के संक्रमण की रोकथाम को शुरू की गई अलग ओपीडी

लखनऊ। राजधानी में स्वाइन फ्लू के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है। इलाज कराने आ रहे मरीजों का संक्रमण दूसरे तक न पहुंचे इसके लिए केजीएमयू, बलरामपुर के बाद अब सिविल अस्पताल में भी अलग ओपीडी शुरू कर दी गई है। वहीं राजधानी के रायबरेली रोड में अब तक 49 लोग फ्लू की चपेट में आ चुके हैं। सिविल अस्पताल में काउन्टर 13 और 14 को स्वाइन फ्लू की ओपीडी बनाया गया है। तेरह नंबर में डॉक्टर मरीजों को देखते हैं जबकि चौदह नंबर काउंटर पर सभी जांचे कराई जाती है। सिविल के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर आशुतोष दुबे ने बताया कि ओपीडी तीन चार दिन पहले शुरू की गई थी, लेकिन करंट आ जाने के कारण ओपीडी बन्द कर दी गयी थी। अब इसे दोबारा शुरू किया गया है।

एलडीए में ठेकेदारों में मारपीट एफआईआर दर्ज

लखनऊ। एलडीए में गुरुवार को सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए दो ठेकेदारों के बीच जमकर मारपीट हुई। गोमती नगर स्थित एलडीए मुख्यालय की न्यू बिल्डिंग के चौथे तल पर ठेकेदार शिवेन्द्र मिश्रा को पीटा गया, जिससे शिवेन्द्र के चेहरे पर गंभीर चोटें आईं। झगड़े का कारण सडक़ निर्माण के अॅानलाइन टेंडर डालने को बताया जा रहा है। शिवेन्द्र के अनुसार उसने एक सडक़ निर्माण के लिए ऑनलाइन टेंडर भरा था। यह बात ठेकेदार बृजेश सिंह और उसके साथियों को नागवार गुजरी जिसके चलते बृजेश सिंह के तीन दर्जन से अधिक लोगों ने मारपीट की। मामले की जानकारी वीसी प्रभुएन सिंह को हुई तो उन्होंने अफसरों के साथ चौथे तल का निरीक्षण किया और वहां मौजूद कर्मचारियों से घटना की जानकारी मांगी लेकिन सभी कर्मचारियों ने मौके पर न होने की बात कही। जिसपर एलडीए वीसी ने सभी कर्मचारियो को जमकर फटकारा। यही नहीं वीसी ने सीसीटीवी कैमरे की डिटेल निकालने के निर्देश दिए हैं। गोमतीनगर थाने में पीडि़त शिवेन्द्र की एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

बिना पंजीकरण केजीएमयू कर रहा है अल्ट्रासाउंड जांच

लखनऊ। केजीएमयू के लॉरी कार्डियोलॉजी विभाग में दो साल से बिना पंजीकरण के अल्टा साउंड मशीने संचालित की जा रही है। जानकारी के बावजूद स्वास्थ्य विभाग ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की। लारी कॉर्डियोलाजी दो साल से बिना पंजीकरण के अल्ट्रासाउंड मशीन चला रहा है। मशीन का पंजीकरण का नवीनीकरण वर्ष 2015 के बाद से अभी तक नहीं कराया गया है। इसका खुलासा नयी मशीन लगाए जाने के दौरान हुई। इस बारे में जब अपर चिकित्सा अधीक्षक आरके चौधरी से बात की गयी तो उन्होंने कहा कि अभी मैं घर पर हूं और मैं कोई टिप्पणी नहीं कर सकता हूृं।

महापौर समेत पार्षदों का कार्यकाल समाप्त

लखनऊ। नगर निगम में गुरुवार को महापौर समेत सभी 110 पार्षदों का कार्यकाल समाप्त हो गया है। आज से निगम में प्रशासन काल लागू हो जाएगा। पिछली बार पार्षदों के चुनाव के बाद सदन की पहली बैठक 2012 में इसी तारीख में हुई थी। इसी के मद्देनजर आज शाम तक नगर आयुक्त उदयराज सिंह निगम के प्रशासन की कमान संभालेंगे। नगर निगम की परम्परा के अनुसार अंतिम सदन की बैठक में सभी पार्षदों को सम्मानित किया जाता है। लेकिन इस बार सदन की अंतिम बैठक नहीं हो पायी है।

Pin It