’4 pm’ की खबर से उड़ जाती है नींद , लेकिन छात्रों को रास्ता दिखाएगा ’नया लक्ष्य’: अखिलेश

सीएम ने कहा कि वीकएंड टाइम्स और 4पीएम की सफलता के बाद ‘नया लक्ष्य’ से ग्रामीण नौैजवानों को मिलेगी नई दिशा

R1अपने निवास 5 कालीदास मार्ग पर किया ‘नया लक्ष्य’ पत्रिका का विमोचन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राजधानी लखनऊ से प्रकाशित पहली प्रतियोगी पाक्षिक पत्रिका ’नया लक्ष्य’ का लोकार्पण किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि 4 पीएम की खबर ने नींद उड़ जाती है, लेकिन यह कोशिश अच्छी है, नया लक्ष्य पत्रिका प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों को रास्ता दिखाएगी और इससे ग्रामीण इलाके के छात्रों को सबसे अधिक फायदा होगा।
नया लक्ष्य प्रतियोगी पत्रिका का विमोचन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह नया काम है। इससे छात्र-छात्राओं को फायदा होगा। वह अपने कॅरियर को लेकर सही दिशा तय कर सकेंगे। सीएम ने कहा कि पत्रिका के संपादक संजय शर्मा ने जब इसके विमोचन की बात की तो, मैंने उन्हें अपने आवास पर ही विमोचन के लिए कहा, क्योंकि इससे संदेश दूर तक जाएगा और पत्रिका के बारे में छात्र जान सकेंगे। मुख्यमंत्री ने पत्रिका निकालने के लिए संजय शर्मा को धन्यवाद दिया, उन्होंने कहा कि तेजी से विकसित हो रही अर्थव्यवस्था में नौजवानों के लिए अपार सम्भावनाएं हैं, लेकिन जानकारी के अभाव में विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के नौजवान इन अवसरों का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। नौजवानों को जागरूक किए जाने कि जरूरत पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं की जानकारी देने वाली पत्रिकाओं को उद्योग स्थापित करने के साथ-साथ कुटीर उद्योग आदि के संबंध में भी जानकारी उपलब्ध करानी चाहिए। उन्होंने कहा कि नया लक्ष्य जैसी पत्रिकाएं नौजवानों को विविध जानकारी हासिल करने के लिए काफी मददगार साबित हो सकती हैं।

उन्होंने कहा कि जब 4पीएम
आने का समय होता है तब लोगों को लंच के बाद उबासी आ रही होती है, मगर 4पीएम की हेडिंग से नींद उड़ जाती है। उन्होंने कहा कि यह अखबार की कामयाबी का प्रतीक है।

यूपी में छात्रों की बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इन नौजवानों को नौकरी एवं रोजगार की दरकार है। उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन की शुरुआत में लगभग 45 लाख नौजवानों के पंजीयन का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यदि इस विशाल आबादी को शीघ्र रोजगार उपलब्ध नहीं कराया गया तो विशाल नौजवान आबादी का कोई लाभ समाज को नहीं मिल पाएगा। इसीलिए राज्य सरकार लगातार इस दिशा में काम कर रही है। वर्तमान समय को सूचनाओं का दौर बताते हुए उन्होंने कहा कि व्यापार क्षेत्र में ई-बिजनेस तेजी से विकसित हो रहा है। भविष्य में व्यापार की और भी कई विधाएं प्रचलन में आ सकती हैं। इसके लिए मानसिक रूप से नौजवानों को तैयार और प्रशिक्षित करना सरकार एवं समाज का दायित्व है। इस कार्य में मीडिया भी काफी उपयोगी एवं सकारात्मक भूमिका अदा कर सकता है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि अब नौजवान किसी खास सेवा क्षेत्र को प्राथमिकता देने के बजाय जो भी कैरियर अपनाते हैं, उसमें विशिष्ट कार्य करने का प्रयास करते हैं। कई प्रदेशों की अपेक्षा उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में नौजवानों के मार्गदर्शन के लिए अच्छी पत्रिकाओं का अभाव है। नया लक्ष्य इस कमी को पूरा करने में सफल होगा।
कार्यक्रम को नया लक्ष्य पत्रिका के संपादक संजय शर्मा सहित पत्रकार रामदत्त त्रिपाठी, सुधीर मिश्र, ज्ञानेन्द्र शुक्ला तथा अजय कुमार ने भी सम्बोधित किया। धन्यवाद ज्ञापन नया लक्ष्य की प्रबन्ध निदेशक बबिता चतुर्वेदी ने किया। कार्यक्रम के दौरान यूपी सरकार के मंत्री राजेन्द्र चौधरी, बलवंत सिंह रामूवालिया, राम गोविन्द चौधरी, दुर्गा प्रसाद यादव, महबूब अली, कैलाश चौरसिया एवं डॉ. शिव प्रताप यादव सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

कॅरियर चयन को लेकर लोगों को मजबूर नहीं किया जाना चाहिए, रिसर्च में भी बच्चों को जाने के लिए प्रेरित करना जरूरी है। आज के बच्चों में उनका लक्ष्य और उनके रास्ते दोनों पता हैं। वह बेहतर कर रहे हैं, केवल उन्हें गाइड करने की जरूरत है।
सुधीर मिश्रा, स्थानीय संपादक, नवभारत टाइम्स

कॅरियर पत्रिका का लखनऊ से प्रकाशन बेहद चुनौती पूर्ण और बड़ा काम है। संजय शर्मा ने यह जिम्मेदारी उठाई है तो निभाएंगे भी, युवा मुख्यमंत्री ने पत्रिका का विमोचन कर यूपी के छात्रों में जोश
भर दिया है।
अजय कुमार, वरिष्ठ पत्रकार

जिस तरीके से संजय शर्मा के संपादन की कला वीकएंड टाइम्स और 4पीएम में दिखती है, उसी तरह से नया लक्ष्य भी धारदार और सटीक संपादन के साथ मिलेगा। इससे युवाओं को बेहतर दिशा मिलेगी। यूपी सबसे बड़ा प्रदेश है, यहां संस्थान ऐसा बनना चाहिए जो, मीडिया से जुड़ी सभी विधाओं की शिक्षा दे सके।
राम दत्त त्रिपाठी, वरिष्ठ पत्रकार

Pin It