2017 की तैयारी में जुटीं माया

  • जोनल को-आर्डिनेटर्स के साथ करीब तीन घंटे तक चली बैठक
  • प्रदेश की जनता की राय जानने में लगीं मायावती
  • विधानसभा चुनाव आते ही आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में मिशन 2017 की तैयारियों में जुटी बीएसपी की जोनल-कोआर्डिनेटर्स की एक अहम बैठक हुई। बैठक में बीएसपी सुप्रीमों मायावती मौजूद रहीं। इस बैठक में शामिल होने के लिए तमाम जोन के जोनल कोआर्डिनेर्टर भी पार्टी कार्यालय पहुंचे थे। बैठक करीब तीन घंटे तक चली।

रविवार को बसपा सुप्रीमो ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रदेश में कानून व्यवस्था पर समाजवादी पार्टी को घेरा था। इसके साथ ही आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। वहीं सोमवार को समाजवादी पार्टी के कद्दावर मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने भी माया कार्यकाल को रिश्वतखोर और हत्याओं का दौर बताया था और अपनी सरकार के काम काज को अव्वल नंबर का दर्जा दिया। जाहिर है जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे बयानबाजी और अरोप प्रत्यरोप का दौर भी शुरू हो गया है। गौरतलब है की अब मायावती लगभग एक महीने यूपी में ही गुजारेंगी तो वहीं काफी दिनों से शांत बीएसपी अब विधान सभा चुनाव की रणनीति में जुट गयी है जाहिर है अब सियासी गतिविधियां जोर पकड़ती नजर आएंगी।

वहीं मिशन 2017 की तैयारियों में जुटी बीएसपी रणनीति बनाने में जुट गई। इस रणनीति के पहले चरण में पार्टी बीएसपी को लेकर लोगों की राय जानना चाहती हैं, लिहाजा जोनल कोआर्डिनेटर्स की बैठक बुलाई गई। जिसमें फीडबैक लिया गया। पार्टी ये जानना चाहती है कि जनता किन मुद्दों पर पार्टी को वोट देनी चाहती है। बीएसपी को लेकर लोग क्या सोच रहें है साथ ही सूबे की समाजवादी पार्टी और बीजेपी को लेकर पब्लिक की राय से भी जोनल कोआर्डिनेटर्स ने बीएसपी सुप्रीमों को अवगत कराया। वैसे पहले भी मायावती ने कहा था कि प्रदेश की जनता बसपा सरकार को फिर चाहती है। जाहिर है सपा सरकार अक्सर कुछ न कुछ अपने कार्यकताओं और मंत्रिओं की हरकत की वजह से विपक्ष के लोगों को सियासी बयानबाजी का मौका दे देती है। अब देखना यही है की मायावती अपने सियासी पारे को कैसे प्रदेश में चढ़ाती हैं और अपने सियासी रंगरूप को कैसे संवारती हैं।

Pin It