18 परिक्षेत्रों में विधि विज्ञान प्रयोगशालाओं की होगी स्थापना

प्रमुख सचिव ने दी जानकारी, कई जनपदों में नि:शुल्क भूमि भी हो चुकी आवंटित

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। विवेचना कार्यों में वैज्ञानिक साक्ष्यों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा वर्तमान में स्थापित विधि विज्ञान प्रयोगशालाओं के सुदृढ़ीकरण पर विशेष बल दिया जा रहा है। साथ ही प्रदेश के विभिन्न स्थानों स्थानों पर नई प्रयोगशालाओं की स्थापना कर इस कार्य को और अधिक प्रभावी व सुगम बनाने के प्रयास किये जा रहे हैं। प्रदेश के 18 परिक्षेत्रों में नयी विधि विज्ञान प्रयोगशालाओं की स्थापना की जायेगी।
उक्त जानकारी प्रमुख सचिव गृह देवाशीष पण्डा ने एनेक्सी में सम्पन्न उच्च स्तरीय बैठक में दी। श्री पण्डा ने बताया कि प्रदेश के कन्नौज व गाजियाबाद जिले में ‘ए’ श्रेणी झांसी, गोरखपुर, इलाहाबाद तथा आजमगढ़ में ‘बी’ श्रेणी तथा फैजाबाद, देवीपाटन, गोण्डा, बस्ती, चित्रकूट धाम, बांदा, मिर्जापुर, बरेली, सहारनपुर व अलीगढ़ में ‘सी’ श्रेणी की नयी विधि विज्ञान प्रयोगशालाएं खोले जाने का लक्ष्य शासन द्वारा निर्धारित किया गया है। प्रथम चरण में आठ स्थानों पर ‘ए’ श्रेणी के लिये गाजियाबाद व कन्नौज ‘बी’ श्रेणी के लिये गोरखपुर व इलाहाबाद एवं ‘सी’ श्रेणी के लिये अलीगढ़, झांसी, गोण्डा एवं बरेली में विधि विज्ञान प्रयोगशाला की स्थापना का निर्णय लिया गया है। इस कार्य में भूमि की व्यवस्था, निर्माण कार्य, उपकरणों आदि की व्यवस्था के संबंध में विधि विज्ञान प्रयोगशाला, पुलिस मुख्यालय इलाहाबाद एवं वित्त विभाग के अधिकारियों के साथ हुयी बैठक में विभिन्न बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा कर समयबद्धरूप से कार्यो का निस्तारण करने के निर्देश दिये गये है। बैठक में बताया गया कि वर्तमान में विधि विज्ञान प्रयोगशाला लखनऊ, आगरा एवं वाराणसी में स्थापित है। जनपद मुरादाबाद एवं गाजियाबाद में विधि विज्ञान प्रयोगशाला की स्थापना हेतु संयुक्त निदेशकों की तैनाती कर आवश्यक स्टॉफ की व्यवस्था की जा रही है। कन्नौज, इलाहाबाद, आजमगढ, गोरखपुर, कानपुर व झांसी में नि:शुल्क भूमि आवंटित हो चुकी है। फैजाबाद, देवीपाटन, गोण्डा, बस्ती, चित्रकूट धाम, बांदा, मिर्जापुर, बरेली, सहारनपुर व अलीगढ़ में जिलाधिकारी के माध्यम से शीघ्र भूमि आवंटन कराये जाने के प्रयासों में तेजी लाने के निर्देश दिये गये है।

बैठक में गृह सचिव कमल सक्सेना, अपर पुलिस महानिदेशक तकनीकी सेवाएं आरके विश्वकर्मा, निदेशक विधि विज्ञान प्रयोगशालाए डॉ. श्याम बिहारी उपाध्याय के अलावा पुलिस मुख्यालय इलाहाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एवं वित्त विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

Pin It