केजीएमयू के मेडिसिन विभाग में प्रदेश का पहला जिरियाटिक

 बुजुर्गो के इलाज के साथ बीमारियों पर होगा शोध

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में बुजुर्गो के बेहतर इलाज के लिए प्रदेश का पहला जिरियाटिक मेडिसिन विभाग शुरू होने जा रहा है। इसका विभागाध्यक्ष मेडिसिन विभाग के डा. कौसर उस्मान को बनाया गया है।
विभाग में बुजुर्गो के लिए यहां पर इलाज के साथ बीमारियों पर शोध भी किया जाएगा। लगभग बीस करोड़ रुपये की लागत से जिरियाटिक मेडिसिन विभाग शुरू किया जायेगा। केजीएमयू के कुलपति प्रो. रविकांत ने मेडिसिन विभाग के वरिष्ठ प्रो. कौसर उस्मान को इस का प्रमुख बनाया है। विशेषज्ञों के अनुसान बुजुर्गो में न्यूरोलॉजिकल, गैस्ट्रो, डायबिटीज, कार्डियक सहित बहुत सारी ऐसी बीमारियां है, जिनके लक्षण अलग दिखाई पड़ते हैं, इन रोगों की सही समय पर पहचान न होने से बुजुर्ग के इलाज में समस्या आती है। उनकों उचित लाभ भी नही मिलता है। बुजुगों की बीमारियों के लिए अलग विशेषज्ञ होने चाहिए। ताकि समय रहते उन्हें पहचाना जा सके। बुजुर्गो में बच्चों की तरह ही बीमारीयों को लक्षणों व व्यवहार के आधार पर पहचाना जाता है। केजीएमयू में इस विभाग के खुल जाने से बुजुर्गो की की बीमारियों पर शोध कार्य भी हो सकेगा।

Pin It