हादसों में लाल हुईं सडक़ें, तीन की मौत

  • समय से एंबुलेंस न पहुंचने से घंटों तड़पता रहा घायल, बस में हुई तोडफ़ोड़

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के अलग-अलग थाना क्षेत्र में गुरुवार को हुई सडक़ दुर्घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गई। करीब डेढ़ दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल हो गये। एक्सीडेंट की सूचना के बाद भी एंबुलेंस न पहुंचने से घायलों को घंटों तड़पना पड़ा। वहीं एक अन्य स्थान पर एक्सीडेंट कर भाग रही बस को रोक कर आक्रोशित लोगों ने तोडफ़ोड़ की और चालक की जमकर धुनाई कर दी।
जानकारी के मुताबिक गोमती नगर के विनयखंड निवासी कालीचरण अपने 20 वर्षीय पुत्र नितेश उर्फ पप्पू, पुत्रवधू रेखा, पौत्री स्नेहा, पौत्र मोनू व भतीजे युवराज के साथ कार पर सवार होकर अपने गृह जनपद आजमगढ़ शादी में गए थे। वहां से वापस आते वक्त लखनऊ के इंदिरा नहर के निकट उनकी कार डीसीएम में पीछे से घुस गई। जिससे कार में सवार सभी लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सकों ने नितेश को मृत घोषित कर दिया। वहीं बाराबंकी में शादी का एक कार्यक्रम अटेंड कर वापस लौट रहे बाइक सवार दंपति दुर्घटना का शिकार हो गया, जिसमें कृष्णा नगर की विष्णु लोक कालोनी निवासी रघुवीर सिंह व उनकी पत्नी मालती को चिनहट के पास मिक्सर वाहन ने टक्कर मार दी। हादसे में मालती की मौत हो गई। वहीं रघुवीर को भी गंभीर चोटें आई हैं। सरोजनी नगर थाने के बंथरा इलाके में जालिमखेड़ा माती निवासी 90 वर्षीय भुन्ना देवी को ट्रैक्टर ने रौंद दिया। अस्पताल लेे जाते वक्त उसकी मौत हो गई। एक अन्य मार्ग दुर्घटना में विकास नगर के रिंग रोड पर बस ने एक हाफ डाला में टक्कर मारने के बाद टैम्पो में भी ठोंक दिया। हादसे में टैंपो पर सवार दस लोग घायल हो गए। आक्रोशित लोगों ने बस में तोडफ़ोड़ कर चालक को जमकर पीटा।

Pin It