सिटी ब्रीफ

टेम्पो पलटने से एक की मौत 

लखनऊ। राजधानी के बीकेटी थाना क्षेत्र में आज सुबह एक तेज रफ्तार टेम्पो अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में टेम्पो में बैठे एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गयी। जबकि टेम्पो चालक मौके से फरार हो गया। हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं पुलिस चालक की तलाश कर रही है। जानकारी के अनुसार बक्शी का तालाब थाना क्षेत्र स्थित फौजी ढाबे के पास आज सुबह एक टेम्पो अनियंत्रित होकर पलट गयी। उस टेम्पों की पिछली सीट पर बैठे बगहा ग्राम निवासी प्रेम (45) पुत्र मूलचंद्र की मौके पर ही मौत हो गयी। इस हादसे से बुरी तरह डरा टेम्पो चालक मौके से फरार हो गया। वहीं हादसे की सूचना क्षेत्रीय लोगों ने पुलिस को दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और टेम्पो को कब्जे में लेने के साथ ही आरोपी चालक की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस के हत्थे चढ़े शातिर वाहन चोर

लखनऊ। ट्रांसगोमती क्षेत्र में पुलिस ने वाहन चुराने वाले तीन शातिर चोरों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक ट्रांस गोमती के मुताबिक विकासनगर थाना प्रभारी अतुल कुमार तिवारी की टीम ने रानी लक्ष्मीबाई स्कूल सेक्टर-14 विकासनगर से अली अब्बास निवासी मोहल्ला बाग घासी वजीरगंज, अमन कान्ड पाल निवासी विष्णुपुरी कालोनी विकासनगर और अमान खान निवासी शेखूपुरा कालोनी विकासनगर को गिरफ्तार किया है, जिनके कब्जे से चोरी की दो बाइक बरामद हुई हैं। पुलिस ने आरोपियों को जेल भेज दिया है। पूछताछ के दौरान अभियुक्तों ने थाना विकासनगर ही नहीं बल्कि आसपास के अन्य थाना क्षेत्रों में भी तीनों अभियुक्तों ने मिलकर अनगिनत घटनाओं को अंजाम दिया था। वे चोरी करने के बाद गाडिय़ों की नंबर प्लेट बदलकर बेच देते थे।

सडक़ चौड़ी हो गई लेकिन नहीं मिला मुआवजा

लखनऊ। मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत काकोरी क्षेत्र में हाईवे बनाने का काम जोरों पर चल रहा है। इसमें सडक़ों को चौड़ा करने के लिए जमीनों और मकानों का अधिग्रहण भी कर लिया गया है लेकिन कई परिवारों को सडक़ों के चौड़ीकरण का काम पूरा होने के बावजूद मुआवजा नहीं मिल पाया है। ऐसे में पीडि़त परिवारों ने मुख्यमंत्री से न्याय की गुहार लगाई है। काकारोही से गुजरने वाले हाईवे के अंतर्गत जमीनों का अधिग्रहण करके सडक़ों का चौड़ीकरण किया जा चुका है। इसमें अधिग्रहण की गई भूमि का मुआवजा कुछ लोगों को तो समय रहते मिल गया लेकिन बहुत से लोग आज भी मुआवजे के लिए भटक रहे हैं। ऐसा ही एक मामला काकोरी के ग्राम भारोसा के अंतर्गत कोहिनूर बेगम पत्नी मोहम्मद नफीस का है, जिनकी 1000 वर्गफुट जमीन का अधिग्रहण कर लिया गया था। कोहिनूर के मुताबिक उनकी भूमि का अधिग्रहण करने से पूर्व उनको कोई नोटिस भी नहीं दिया गया था। इसके बावजूद उनकी भूमि को सडक़ों के चौड़ीकरण में शामिल कर लिया गया। इस मामले में क्षेत्रीय तहसीलदार से लेकर एसडीएम तक से गुहार लगाई जा चुकी है लेकन अब तक भूमि का मुआवजा नहीं दिया गया। इसलिए कोहिनूर ने जमीन के अधिग्रहण के बावजूद मुआवजा न मिलने की शिकायत मुख्यमंत्री से की है। उनसे न्याय की गुहार लगाई है। लेकिन अब तक कोई भी सुनवाई नहीं हुई। इसलिए पीडि़ता और उसका परिवार मानसिक तनाव में है।

Pin It