सिटी ब्रीफ

मोहान रोड की 113 एकड़ जमीन पर एलडीए ने किया कब्जा

लखनऊ। मोहान रोड योजना में करोड़ों खर्च करने के बाद भी एलडीए 113 हेक्टेयर जमीन पर वर्षों से कब्जा नहीं ले पा रहा था। इस कारण तीस हजार आशियाने बनाने की योजना पर ब्रेक लग गया था। हालांकि एलडीए सचिव अरुण कुमार ने इस पर कई बार नाराजगी भी जतायी थी लेकिन तत्कालीन अधिकारियों ने जमीन को अपने कब्जे में लेने का प्रयास नहीं किया। फिलहाल एलडीए के अधिकारियों के लगातार प्रयास के बाद उस जमीन पर कब्जा मिल गया है। अब जल्द ही उस जमीन पर आशियाने बनाने की कार्ययोजना को आगे बढ़ाया जायेगा। संयुक्त सचिव धनंजय शुक्ला ने बताया कि 30 हजार आशियाने देने के लिए एलडीए ने चंदाकोडर, नगवामऊ खुर्द, दुर्जनपुर, दुर्जनपुर कला, राजपुर समेत कई गांवों से जमीन अधिकृत की है। 839 हेक्टेअर जमीन लेने की योजना है, लेकिन अब तक 113 हेक्टेयर जमीन ही खरीदी जा सकी है, उस पर काफी दिनों से कब्जा नहीं मिल पा रहा था, जिसके बाद से हम लोग लगातार कब्जा लेने के लिए प्रयासरत थे। फिलहाल जमीन को अपने कब्जे में कर लिया गया है। इसके बाद इंजीनियरों के साथ बैठक कर आगे की कार्ययोजना तैयार की जाएगी। इस योजना में एलडीए प्लॉट के साथ रो-हाउसिंग और मकान बनाकर आवंटित करने वाला है। जल्द ही कार्य शुरू करा दिया जाएगा।

चिकित्सालयों का नियमित निरीक्षण करें मैजिस्ट्रेट: डीएम

लखनऊ। राजधानी में डेंगू से निपटने के लिए जिलाधिकारी सत्येन्द्र सिंह ने मजिस्ट्रेटों को अस्पतालों के निरीक्षण की जिम्मेदारी सौंपी है। डेंगू से निपटने के लिए अस्पतालों में संसाधनों और मरीजों को इलाज संबंधी समस्याओं का पता लगाने और उसका निराकरण कराने की कमान प्रशासन ने अपने हाथों में ले ली है। इसके साथ ही आम जनता को डेंगू से जुड़ी समस्याओं की शिकायत के लिए कंट्रोल रूम मुहैया कराया गया है, जो कि सीएमओ कार्यालय में है। उस पर शिकायत कर सकते हैं। जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को जारी पत्र में कहा है कि पिछले तीन माह की सभी सरकारी व निजी अस्पतालों से डेंगू व डेंगू के लक्षण वाले बुखार को सूचीबद्ध करते हुए परीक्षण कर लें। किन स्थानों पर डेंगू या उसी प्रकार के लक्षण वाले बुखार संक्रमित हैं। जन भागीदारी के रूप में वृहद जन-जागरूकता अभियान, वृहद रूप से साफ-सफाई अभियान, दवा छिडक़ाव व फागिंग अभियान एवं प्रारम्भिक स्वास्थ्य परीक्षण अभियान चलाया जाना आवश्यक है। इसके लिए सभी प्रकार के प्रकरणों को सूचीबद्ध करके स्थानों को चिन्हित कर लिया जाये। पूर्व में डेंगू रोकथाम के सम्बन्ध में जो दिशा निर्देश जारी किये गये है, उसका सम्बन्धित मैजिस्टे्रट,नगर निगम,चिकित्सा विभाग के अधिकारियों द्वारा प्रत्येक दशा में अनुपालन सुनिश्चित किया जाये। जिले की जनता के लिए जारी कंट्रोल रूम का फोन नंबर0532- 2622080 है। यहां शिकायतों के निस्तारण के लिए जानकारी प्राप्त कर सकतें हैं।

Pin It