सस्ते इलाज का झांसा देकर मिड लाइफ अस्पताल ने मरीज से वसूले लाखों

  • दलाल के जरिए फांसा केजीएमयू में भर्ती मरीज के परिजनों को
  • हंगामे के बाद पहुंची पुलिस ने मैनेज किया मामला

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के एक निजी अस्पताल में मरीजों को सस्ते इलाज का झांसा देकर दवा और ऑपरेशन के नाम पर पैसा ऐंठने का खेल चल रहा है। इसका खुलासा तब हुआ जब एक मरीज के परिजनों ने भारी भरकम बिल देखकर ्रपुलिस को बुला लिया। पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता करा दिया है।
ठाकुरगंज स्थित मिड लाइफ रिसर्च एंड ट्रामा में दलाल के जरिए केजीएमयू में भर्ती एक मरीज को सस्ते इलाज का झांसा देकर भर्ती कराया गया। हरदोई निवासी जियालाल 26 वर्ष एक सडक़ दुर्घटना में चोटिल हो गये थे। 13 नवम्बर को परिजन उसे ट्रामा सेन्टर लाये। 15 नवम्बर को एक बाहरी व्यक्ति ने मरीज के परिजन मनोज से संपर्क किया और अपना कार्ड देते हुए कहा कि यहां ठीक से इलाज नहीं होगा। मैं अच्छे अस्पताल में भर्ती करवाता हूं।
जियालाल के परिजन उस व्यक्ति के साथ ठाकुरगंज स्थित मिड लाइफ रिसर्च एंड ट्रामा सेंटर पहुंचे। वहां 16 नवम्बर से मरीज का इलाज शुरू किया गया। मरीज के परिजन मनोज ने बताया कि पहले ऑपरेशन के समय एक लाख रुपये लिये गये। उसके बाद 1 लाख 28 हजार का एक और बिल थमा दिया। इसके बाद परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी। हंगामे की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और एक लाख 28 हजार का बिल 64 हजार में कराकर मामले को रफा-दफा कर दिया। इसके बाद परिजनों ने अस्पताल के खिलाफ शिकायत वापस ले ली। परिजन मनोज का कहना है कि अब उन्हें अस्पताल प्रशासन से कोई शिकायत नहीं है।

Pin It