समस्या के निस्तारण का झूठा मैसेज भेज रहा निगम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जनमानस की समस्याओं को सुनने व उसका समाधान करने के लिए नगर निगम में पोर्टल पर ऑनलाइन समस्या सुनने की व्यवस्था है। किन्तु बीते कुछ महीनों से नगर निगम की इस व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि वह इस ऑनलाइन पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराते हैं, तो समस्याओं का निस्तारण हुए बिना ही झूठे मैसेज निगम की ओर से भेजे जा रहे हैं।
इंदिरानगर के सेक्टर-19 निवासी अवनींद्र तिवारी ने नगर निगम के पोर्टल में ऑनलाइन सीवर चोक की शिकायत दर्ज कराई थी। समस्या के समाधान का मैसेज तो उनको आ गया लेकिन समस्या दूर करने कोई नहीं आया। इंदिरा नगर के ही एके शुक्ल ने घर के सामने पार्क में कूड़ा इक_ïा होने की शिकायत दर्ज कराई थी। कूड़ा तो वही सजा रहा और समाधान का मैसेज आ गया। इसके अलावा सीमा शर्मा ने कुछ माह पहले ट्रांसपोर्ट नगर में अवैध डेरियों की शिकायत दर्ज कराई थी। समाधान का मैसेज तो आ गया पर डेरियां आज तक सजी हुई हैं। वहीं बालागंज के यासिर ने सडक़ खराब होने की शिकायत ऑनलाइन की थी, जिसका डॉकेट नंबर 274517 है, लेकिन अभियंत्रण विभाग ने बिना सडक़ बनाए ही पोर्टल में शिकायत निस्तारण दिखा दिया।
फर्जी निस्तारण पर नहीं हो रही कार्रवाई
ऐसी अनेक शिकायतें हैं, जिनका निस्तारण किए बिना ही नगर निगम के अफसरों ने हरी झंडी दे दी। इससे साफ दर्शाता है कि निगम को जनता की शिकायतों से कुछ खास लेना देना नहीं है। सिर्फ खानापूर्ति के तौर पर ही समस्या निस्तारण की कार्रवाही की जा रही है। नगर आयुक्त उदय राज सिंह ने कहा कि पोर्टल पर शिकायतों के फर्जी निस्तारण का मामला उनके संज्ञान में आया है। मामले की जांच कराई जाएगी। रिपोर्ट आने पर आगे की प्रक्रिया की जाएगी।

Pin It