विपक्ष ने नोटबंदी पर मोदी सरकार को घेरा

नोटबंदी को लेकर सपा समेत विपक्षी दलों ने मोदी सरकार पर फिर हमला बोला है। सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने जहां प्रधानमंत्री पर संसद में जवाब न देने का आरोप लगाया, वहीं बसपा प्रमुख मायावती ने मोदी पर जनता को ब्लैकमेल करने का आरोप जड़ा है। इस मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने भी पीएम पर तंज कसा है।

पीएम ने अपने ही देशवासियों को लूटा: शिवपाल यादव

captureलखनऊ। सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने ही देशवासियों को लूटा है। जिनसे उन्होंने ‘मेक इन इंडिया’ का वायदा किया था। क्या यही बेहतर भारत है? यदि हम उनकी किसी गलत बात के विरुद्ध आवाज उठाते हैं तो हमें देशद्रोही और भ्रष्टाचारी कहा जायेगा। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने टैक्स जमा करने के बाद जो पैसा नगदी के रूप में घर में रख रखा था, वे भी इस नीति से डर रहे हैं कि उन्हें भी देशद्रोही और कालाधन रखने वाला कह दिया जायेगा।
श्री यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा अपनाये गये एक नाकाम तरीके की वजह से पूरे देश में बेरोजगारी फिर से दस्तक देगी। चूंकि देश में बहुत सारे ऐसे छोटे व्यवसाय हैं जो नगद से ही चलते हैं। समाजवादी पार्टी कालाधन के खिलाफ है लेकिन जिस प्रकार से एकाएक बिना तैयारी यह किया गया यह सही नहीं है।
एक सवाल का जवाब देते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री तो संसद में जवाब देने से भी भाग रहे हैं। क्यों नहीं देश की जनता के प्रतिनिधियों को वह जवाब देते कि यदि उन्होंने नोटबंदी की तैयारी पहले से ही कर रखी थी तो आज देश भर में ऐसी अफरातफरी क्यों है? सहकारी बैंकों में लेनेदेन पर लगी रोक संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि किसानों व ग्रामीण लोगों के एकाउंट सहकारी बैंकों में ही होते हैं। मोदी सरकार ने सहकारी बैंकों के लेन-देन पर पूर्णतया रोक लगा रखी है। जो छूट दी गयी है वह सिर्फ उन किसानों को है जिनका भुगतान के्रडिट कार्ड या चैक आदि से हुआ हो। किसान खाद व बीज सहकारी समितियों से खरीदता है लेकिन इन पर बड़े नोटों से खरीदारी की छूट नहीं है।

जिसके परिवार होता है, उसी को दर्द होता है: सिब्बल

लखनऊ। राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि जिसके परिवार होता है, उसी को दर्द होता है। श्री मोदी के परिवार ही नहीं है, इसलिए उन्हें कोई दर्द नहीं हैं। श्री मोदी ने अपनी 90 वर्षीय मां को रुपयों के लिए लाइन में खड़ाकर अपनी सोच को उजागर किया है। पूरे देश की जनता को उनकी सोच को समझने की जरूरत है। यदि वह अच्छे बेटे होते तो खुद लाइन में लगकर अपनी मां को चार हजार रुपये लाकर देते। पूर्व केन्द्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने नोटबंदी के संबंध में नोटों के आंकड़े पेश करते हुए कहा कि देश की 80 प्रतिशत जनता का बैंक खाता नहीं है। जिनके पास है, वह भी बन्द है या प्रयोग में नहीं है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने नोटबंदी से आ रही दिक्कतों को दूर करने के लिए पचास दिन का समय मांगा है। जिस तरह नोटों की छपाई होती है उससे यह समस्या पांच महीने में भी नहीं दूर होगी। श्री सिब्बल ने अल्पसंख्यक विभाग के समस्त प्रदेश पदाधिकारियों, एडवाइजरी बोर्ड के सदस्यों तथा जोनल/मंडल कोआर्डिनेटर्स तथा जिला/शहर चेयरमैनों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी को मजबूत बनाना है। अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय चेयरमैन खुर्शीद अहमद सैय्यद ने चुनाव में टिकटों के बंटवारे में मनमानी व अल्पसंख्यकों की अनदेखी किए जाने का आरोप लगाया। बैठक को प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, प्रचार समिति के चेयरमैन एवं सांसद डॉ संजय सिंह, समन्वय समिति के चेयरमैन सांसद प्रमोद तिवारी ने भी बैठक को संबोधित किया।

आंसू बहाकर जनता को ब्लैकमेल न करें मोदी: माया

लखनऊ। बसपा मुखिया मायावती ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। प्रधानमंत्री के भावनात्मक भाषण पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा है कि मोदी बार-बार आंसू बहाकर जनता को ब्लैकमेल न करें। प्रधानमंत्री मोदी ने देश के माहौल को खराब करने का प्रयास किया है। इसके लिए जनता उन्हें माफ नहीं करेगी। बसपा सुप्रीमो ने मुख्यमंत्री अखिलेश द्वारा उन्हें बुआ कहकर संबोधित करने पर कहा कि वे उन्हें जबरन बुआ कहने की कोशिश न करें। बबुआ व बबुआ ब्राडकास्टिंग कारपोरेशन-2 की वजह से प्रदेश की कानून व्यवस्था सुधर नहीं सकती।
मायावती ने नोटबंदी पर सरकार को घेरते हुए कहा कि केंद्र ने देश के माहौल को खराब करने का प्रयास किया। केंद्र ने नोटबंदी का फैसला अपने निजी स्वार्थ के लिए लिया है। इस फैसले से आर्थिक इमरजेंसी जैसे हालात पैदा हो गए हैं। मायावती ने प्रधानमंत्री मोदी के आंसू बहाने पर भी चुटकी लेते हुए कहा कि पीएम का बार-बार इमोशनल होना, आंसू बहाना पब्लिक को ब्लैकमेल करने का तरीका है। मोदी ने चुनावों के मद्देनजर यह फैसला लिया है। दुनिया जानती है भारत एक गरीब और आत्मसम्मान वाला देश है। सरकार ऐसे बेइमानी के साथ काम करेगी ये किसी ने नहीं सोचा था। देश की जनता अपने पैसे के लिए खुले आसमान के नीचे खड़े होकर लाठी-डंडे खा रही है। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी नोटबंदी के फैसले का विरोध करती है। उन्होंने कहा कि देश के मध्यम वर्ग के हितों का ध्यान में रखकर हम इसका विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए बीजेपी पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा को न तो ऑक्सीजन पर चल रही कांग्रेस से खतरा है और न ही इनके मित्र सपा परिवार से है बल्कि इन्हें एक मात्र खतरा बीएसपी से है।

Pin It