वाणिज्य कर कर्मियों ने दी भूख हड़ताल की चेतावनी

लखनऊ। विभाग में दस वर्षों से एक ही स्थान पर जमे अधिकारियों व कर्मचारियों को हटाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे वाणिज्य कर कर्मियों ने अब भूख हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। विगत पांच दिन से सूबे में वाणिज्य कर कर्मियों का चल रहा धरना बुधवार को भी जारी रहा। वहीं वणिज्य विभाग के चतुर्र्थ श्रेणी कर्मियों के आंदोलन को अन्य संगठनों का भी साथ मिला है।
उत्तर प्रदेशीय चतुर्र्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी वाणिज्य कर संघ के प्रदेश महामंत्री सुरेश सिंह यादव ने बताया कि अपनी 11 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेश के सभी जनपदों में वाणिज्य कर महकमे के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी धरना प्रदर्शन कर रहें हैं, जोकि बुधवार को भी जारी रहा। उन्होंने बताया कि महकमे में कई अधिकारी व कर्मचारी दस दस वर्षों से एक ही स्थानों पर टिके हुए हैं, जोकि वहां के चतुर्थ श्रेणी कर्मियों का शोषण कर रहे हैं। जिन्हें हटाने के लिए बीते दिनों संघ से हुई वार्र्ता के बाद एडिशनल कमिश्नर प्रशासन ने ऐसे कर्मियों को हटाने के आदेश दिए थे। इसके बाद भी इन कर्मचारियों को नहीं हटाया गया है। इसके विरोध में सभी चतुर्थ कर्मी आंदोलित होकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि आयुक्त के आदेश का पालन न किया गया तो चार नवंबर को हजरतगंज में गांधी प्रतिमा के समक्ष भूख हड़ताल शुरु कर दी जाएगी। जरूरत पड़ी तो कार्यालयों में तालाबंदी भी की जाएगी।

Pin It