वन मंत्री के बेटे व भतीजे के बीच खूनी संघर्ष

  • वर्चस्व में चलीं गोलियां महिला समेत पांच लोग घायल

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। प्रदेश सरकार के वन मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव के घर में वर्चस्व की जंग खूनी संघर्ष का रूप लेती जा रही है। दुर्गा प्रसाद यादव के बेटे विजय यादव और भतीजे प्रमोद यादव के बीच शुक्रवार की देर रात जमकर विवाद हुआ। ये दोनों लोग एक मेले में शामिल होने गये थे। वहीं किसी बाद को लेकर विवाद बढ़ा और दोनों पक्षों की तरफ से फायरिंग हुई। इसमें एक महिला समेत पांच लोग घायल हो गये हैं। वहीं घटना की सूचना मिलने पर वन मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने अस्पताल पहुंचकर लोगों का हाल चाल लिया।
आजमगढ़ के उकरौड़ा गांव में वन मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव के बेटे विजय यादव और भतीजे प्रमोद यादव के बीच पिछले कई सालों से वर्चस्व की जंग चल रही है। इन दोनों के बीच जिला पंचायत की सीट को लेकर विवाद चल रहा है। इस विवाद की नींव करीब सात साल पहले पल्हनी के ब्लॉक प्रमुख सीट को लेकर शुरू हुई थी। उस दौरान प्रमोद यादव पल्हनी के ब्लाक प्रमुख थे। लेकिन दुर्गा प्रसाद यादव के बेटे विजय यादव पल्हनी से ब्लाक प्रमुख का चुनाव लडऩा चाहते थे। वह भी ब्लाक प्रमुख बनना चाहते थे। लेकिन प्रमोद यादव पल्हनी सीट छोडऩे को तैयार नहीं थे। इस मामले की जानकारी होने पर दुर्गा प्रसाद यादव ने दोनों को समझा-बुझाकर मामला शांत करा दिया था। ब्लाक प्रमुख के अगले चुनाव में विजय यादव मोहम्मदपुर के ब्लाक प्रमुख बने और प्रमोद का पल्हनी के ब्लाक प्रमुख की सीट पर कब्जा बरकरार रहा। यह मामला ऊपर से शांत हो गया लेकिन अंदर खाने दोनों भाइयों के बीच अनबन बढ़ती चली गई। आपको बता दें कि दुर्गा प्रसाद के भतीजे प्रमोद ने राजनैतिक महात्वकांक्षा में करीब एक साल पहले हुए जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में पार्टी की तरफ से टिकट हासिल कर लिया था, लेकिन ऐन वक्त पर उनका टिकट काट दिया गया। प्रमोद यादव को लगा कि इसके पीछे चाचा और भतीजे का हाथ है। इसी घटना के बाद से दोनों परिवारों में बोलचाल भी लगभग बंद हो गई। ये दोनों भाई एक दूसरे को देखना भी पसंद नहीं करते हैं लेकिन शुक्रवार की रात अचानक से एक मेले में दोनों भाइयों का आमना सामना हो गया। वहां दोनों के बीच किसी मुद्दे को लेकर बहस शुरू हो गई। जो बाद में दोनों पक्षों की फायरिंग में तब्दील हो गई। इस घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने अब तक कुल 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। घायलों में सभी की हालत स्थिर बतायी जा रही है।

Pin It