लड़ाकू जहाजों ने रोमांचित कर दिया कार्यक्रम में मौजूद सभी लोगों को

captureजब एक्सप्रेस-वे पर तीन सुखोई विमान उतरे तो लोगों की सांसे रुक गईं। ग्वालियर से उड़ान भरे इन विमानों ने एक्सप्रेस-वे को टारगेट किया था। ध्वनि की गति से दुगनी रफ्तार अर्थात 2495 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से सबसे पहले सुरेंद्र मलिक फिर प्रजांत और आखिर में प्रमिल ने जब अपना विमान लैंड किया तो लोगों ने ताली बजाकर इनका स्वागत किया। जिस स्क्वाडन के यह विमान हैं उसमें 1942 से अब तक की सभीबड़ी लड़ाइयों में भाग लिया है। यह पहला मौका था कि जब इतने जहाज किसी राजमार्ग पर उतरे।

Pin It