रेडीमेड सेल में हुई तेजी से बढ़ोतरी

खादी कपड़े चार तरह के होते हैं, जिसमें आउट लुक, मिल क्लॉथ, हैण्डलूम और खादी शामिल हैं। इनमें से रेडीमेड कपड़ों की बिक्री में काफी तेजी आई है। खादी में कई तरह की वैराइटी होने की वजह से इसकी डिमांड बढ़ी है। शरीर को एलर्जी से दूर रखती है, खादी महंगी जरूर है लेकिन फायदेमंद है। इसे लोग हर सीजन में कैरी कर सकते हैं। हजरतगंज स्थित खादी आश्रम में ही खादी की बिक्री करीब 80 प्रतिशत तक बढ़ चुकी है। अब दुकानों में खादी के रेडीमेड कपड़े 30 प्रतिशत से बढ़ कर 70 प्रतिशत तक बिकते हैं। ज्यादातर युवा इसे सोबर कलर और कम्फर्ट फैक्टर की वजह से ही पहनना पसंद करते हैं। वहीं आधुनिक स्टाइल में खादी के कपड़े आने के बाद से मेट्रो सिटीज में भी ऐसे कपड़े पसंद किए जा रहे हैं। खादी महोत्सव में शॉपिंग करने आए विवेक कहते हैं कि ऐसे तो मुझे डिजाइनर और ब्रांडेड कपड़ों का हमेशा से शौक रहा है। इधर काफी समय से मुझ पर खादी का रंग चढ़ा हुआ है, क्योंकि यह काफी कूल लुक देता है और पहनने पर कम्फर्ट फील होता है।

खादी विक्रेता प्रकाश सिंह खुद खादी इनोवेशन करते हैं। वे अलग-अलग शहरों में घूमकर लोगों से आइडियाज लेते हैं। जो खादी के कपड़ों में सुंदर कारीगरी के रूप में देखने को मिलता है। वहीं खादी को युवाओं की डिमांड के हिसाब से डिजाइन किया जा रहा है। बाजार में खादी के कुर्ते, टॉप, शर्ट, सूट, सिल्क साड़ी देखने को मिल रही है।

Pin It