राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा दुश्मनों से भी करेंगे दोस्ती

  • राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड को 276 और हिलेरी को 218 वोट मिले
  • डोनाल्ड ट्रंप बने दुनिया के सबसे ताकतवर नेता
  • ट्रंप के राष्ट्रपति बनने से मोदी सरकार को फायदा होने की उम्मीद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
9-nov-page1-final1नई दिल्ली। रिपब्लिकन पार्टी के डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के 45 वें राष्ट्रपति बन गये हैं। उन्होंने अमेरिका के सबसे विवादास्पद चुनाव में हिलेरी को हराया। चुनाव के दौरान टं्रप पर गंभीर आरोप लगे और महिलाओं के साथ आपत्तिजनक हालत के उनके वीडियों वायरल हुए। सभी सर्वेक्षण बता रहे थे कि चुनाव में हिलेरी की जीत होगी, मगर तमाम सर्वेक्षणों को दर किनार करके ट्रंप ने ऐतिहासिक जीत हासिल कर ली।
चुनाव जीतने के बाद टं्रप ने कहा कि वह विकास दर दोगुनी करेंगे और दुनिया के हर देश से रिश्ते मजबूत करेंगे। उन्होंने कहा कि मेरी जीत उनकी जीत है जो अमेरिका से प्यार करते हैं। अमेरिका में टं्रप के इस बयान का खासा महत्व माना जा रहा है। इस चुनाव में यूएस इलेक्शन डे ने ट्वीट का भी रिकार्ड तोड़ दिया
है अब तक पैतीस मिलियन ट्वीट किए गए हैं।
ट्रंप को पीएम मोदी की तरह आक्रामक नेता माना जाता है। चुनाव के बीच में ही जब ट्रंप ने नारा दिया था कि अबकी बार टं्रप सरकार तो लोगों ने मान लिया था कि अगर टं्रप चुनाव जीतते हैं तो इससे मोदी सरकार को खासा फायदा होगा। ट्रंप ने भी चुनाव प्रचार के दौरान आतंकवाद के मुद्दे पर भारत का समर्थन किया था। इसीलिए आज ट्रंप की जीत पर दिल्ली में भी कई जगह ट्रंप के समर्थन में नारेबाजी की गई और मिठाइयां बांटी गईं।

नोट बंद… नेताओं और अफसरों में हडक़ंप लखनऊ में जगह-जगह हंगामा

  • सोशल मीडिया में चर्चा अब क्या करेंगी माया और गायत्री प्रजापति
  • लखनऊ के मॉल, ज्वैलरी शॉप और रेस्टोरेंट में छाया सन्नाटा
  • मेडिकल स्टोर, पेट्रोल पंप पर मारपीट की नौबत, गरीब मजदूर और रेहड़ी वाले हुए बेहाल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पीएम मोदी के नोट बंद करने के रात के ऐलान के बाद आज सुबह लखनऊ में जगह-जगह हंगामा हुआ। मेडिकल स्टोर हो या फिर पेट्रोल पंप, लोगों का आरोप है कि यहां भी 500 सौ के नोट नहीं लिए जा रहे। रात से ही कई आईएएस अफसर और नेता बेहाल हैं। कुछ अफसर तो रात में ही ज्वैलर्स के पास पहुंचे और सोना खरीदने की डिमांड की। नोट बंद होने से सोशल मीडिया पर भी तरह-तरह की चर्चांए हो रही हैं। लोग कमेंट कर रहे हैं कि चुनाव लडऩे के लिए प्रत्याशी से तीन से पांच करोड़ रुपये की जो वसूली की गई थी, अब उसका क्या होगा।
सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा कटाक्ष मायावती और मंत्री गायत्री प्रजापति को लेकर किया जा रहा है कि इनकी बेशुमार दौलत अब कागज का पुर्जा बन जायेगी। सबसे ज्यादा परेशान मजदूर और रेहड़ी वाले हैं। ठेलों पर फुटकर पैसे नहीं है। मजदूरों को चाय की दुकान पर चाय और खाने के लिए लाले पड़ गए हैं। लखनऊ के मॉल और ज्वैलर्स की दुकानों पर सन्नाटा छाया हुआ है। ज्वैलर्स आज सामान सिर्फ चेक या के्रडिट कार्ड पर देने को तैयार हैं, मगर कोई भी नंबर एक में सोना नहीं खरीदना चाहता। लखनऊ के रियल स्टेट के कारोबारी रात से ही बेहद परेशान हैं। रियल स्टेट में बड़ी मात्रा में नेताओं और अफसरों का काला धन लगा है। इस फैसले का सबसे ज्यादा असर रियल स्टेट पर पडऩे की उम्मीद जताई जा रही है और माना जा रहा है कि फ्लैट सस्ते हो जायेंगे।

ऐसी ही घबराहट उन लोगों की भी है, जो महीने बाद चुनाव में जाने की तैयारी कर रहे थे। अधिकांश लोगों ने 25 से 30 करोड़ रुपए की व्यवस्था लोगों को बांटने और संसाधन जुटाने के लिए इकट्ठी  कर रखी थी और अब वह समझ नहीं पा रहे कि इस पैसे को वह कैसे खपाएं। चाय की दुकान हो या सरकारी दफ्तर हर, जगह सिर्फ इसी फैसले की चर्चा हो रही है। कुछ लोग कह रहे कि पंजाब और यूपी में चुनाव की वजह से मोदी ने यह दांव चला है।

शेयर बाजार हुआ धड़ाम

देश में 500 और 1000 के नोट बंद होने का सीधा असर सेंसेक्स पर भी देखने को मिल रहा है। कल रात नोट बंद करने का फैसला आने के बाद शेयर बाजार में गिरावट शुरू हो गई। आज सुबह सेंसेक्स 1600 अंकों की गिरावट के साथ खुलने के बाद करीब 9:45 बजे लगभग 800 अंकों की गिरावट पर कारोबार कर रहा था। इसके बाद 11 बजकर 14 मिनट पर 277 अंक गिरकर 26614 के स्तर पर आ गया। जबकि निफ्टी 321 अंक गिरकर 8222 के स्तर पर देखा जा रहा है। यह गिरावट सीधे-सीधे एग्जिट पोल में हिलेरी क्लिंटन पर डोनाल्ड ट्रंप को मिली बढ़त के असर के रूप में भी देखी जा रही है। लेकिन सबसे बड़ा असर 500-1000 रुपये के नोट बंद करने के नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले की वजह से है।

Pin It