ममता बनर्जी के साथ सीएम अखिलेश यादव ने किया नोटबंदी का विरोध

  • समाजवादी पार्टी के साथ तृणमूल कांग्रेस की जुगलबंदी दिखी धरने में
  • आम आदमी पार्टी भी आई समर्थन में

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। नोटबंदी के खिलाफ आयोजित धरने में सपा और तृणमूल कांग्रेस की जुगलबंदी देखने को मिली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज प्रदेश की राजधानी लखनऊ में धरना दिया। प्रदेश में सत्तारूढ़ सपा ने तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता के धरना प्रदर्शन का समर्थन किया है। इसमें सपा एमएलसी आनंद भदौरिया, सुनील साजन और प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अरविंद सिंह गोप समेत कई अन्य नेताओं ने शिरकत की। वहीं आम आदमी पार्टी ने भी विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया है।
तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी ने नोटबंदी के खिलाफ राजधानी के 1090 चौराहे पर मोदी सरकार के खिलाफ धरना-प्रदर्शन किया। ममता सोमवार की शाम लखनऊ पहुंच गई थीं। यहां अमौसी एयरपोर्ट पर उनका स्वागत मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किया था। नोटबंदी पर ममता ने मोदी को राजनीति से खदेडऩे का संकल्प लेते हुए कहा कि मोदी जैसे तानाशाह की राजनीति में कोई जगह नहीं है। कोई भी फैसला पर्याप्त तैयारी के बाद लिया जाना चाहिए, नहीं तो जनता के लिए इसके नतीजे भयावह होते हैं। वहीं, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी से आम आदमी, किसान और मजदूर परेशान है। लोग कतार में खड़े होने को मजबूर है। इससे पहले मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से पिछले दिनों मुलाकात कर उन्हें लोगों की समस्या से भी अवगत कराया था।

सपा कार्यकर्ता आपस में भिड़े

नोटबंदी के खिलाफ तृणमूल के धरने में पहुंचे सपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। सपा कार्यकर्ता ने आगे खड़े होने को लेकर विवाद किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने मुलायम यूथ ब्रिगेड के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमिताभ बाजपेयी के साथ धक्का-मुक्की की।

Pin It