बैंकों से कैश निकालने की लिमिट खत्म

  • अब लीगल टेंडर नोट जितने चाहें जमा करें जितना चाहे निकालें

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। रिजर्व बैंक ने नोटबंदी के 20 दिन बाद बैंकों से कैश निकालने की लिमिट खत्म कर दी। लेकिन आप लीगल नोटों में जितना जमा करेंगे, उतना ही निकाल सकेंगे। अगर 1000-500 के पुराने नोटों में पैसा जमा करा रहे हैं तो एक हफ्ते में 24 हजार रुपए निकालने की लिमिट कायम रहेगी। इससे निश्चित तौर पर उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी।
बैंकों से नोट निकालने की लिमिट तय होने की वजह से नोटों की बाजार में कमी बनी हुई थी। इससे रोजगार प्रभावित होने के साथ ही आम जनता की दिनचर्या पर भी काफी असर पड़ रहा था। इसलिए आरबीआई ने बैंकों से कैश निकालने की लिमिट खत्म कर उपभोक्ताओं को राहत दी है।

आरबीआई की घोषणा के बाद बदले नियम

पहले आप बैंक अकाउंट से एक दिन में 10 हजार और एक हफ्ते में 24 हजार रुपए निकाल सकते थे। इस लिमिट को हटा दिया गया है। आरबीआई के मुताबिक बैंकों में उपभोक्ता अगर बड़ी रकम लीगल नोटों में जमा करते हैं, तो आगे उसे निकालने की कोई सीमा नहीं रहेगी। मसलन, अगर आज आपने बैंक में 2 लाख रु. जमा किए तो कल ये पूरी रकम निकाल भी सकते हैं। पर बाकी नियम वैसे ही रहेंगे। यानी सेविंग एकाउंट से निकासी की सीमा हफ्ते में 24 हजार रु. और करेंट एकाउंट में 50 हजार रु. बनी रहेगी। आपका जिस बैंक में अकाउंट है, उसके एटीएम से आप एक दिन में 2500 रुपए और दूसरी बैंक के एटीएम से एक दिन में 2000 रुपए निकाल सकते हैं। इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। बैंकों में कैश जमा करने की कोई लिमिट नहीं है। 30 दिसंबर तक आप पुराने नोटों का कितना भी अमाउंट अपने खाते में जमा करा सकते हैं। अगर नोटबंदी के 50 दिन में 2.5 लाख रुपए से ज्यादा जमा कराते हैं तो उसके सोर्स से जुड़े दस्तावेज अपने पास रखें। आपसे जवाब मांगे जा सकते हैं। इसके अलावा बैंकों में कोई नोट एक्सचेंज नहीं हो रहे हैं। आप सिर्फ जमा करा सकते हैं। एक्सचेंज कराना है तो पुराने नोट लेकर सिर्फआरबीआई के 19 सेंटर्स पर जा सकते हैं। वहां भी 30 दिसंबर तक एक शख्स 2000 तक के नोट ही एक्सचेंज करा सकता है। आरबीआई के 19 सेंटर्स में यह
सुविधा है।

Pin It