बीजेपी नेता 2000 रुपये के नये नोटों के साथ गिरफ्तार, पार्टी में हंगामा

सरकार के विमुद्रीकरण मिशन का प्रचार करने वाले नेता के पास से 20.77 लाख बरामद

captureकर्नाटक। भारतीय जनता पार्टी की यूथ विंग के नेता जेवीआर अरुण नोटबंदी के समर्थन में बड़ी-बड़ी बातें करते थे लेकिन उन्हें नयी नोटों के साथ कर्नाटका पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस को उनके पास से 2000 रुपये के नये नोटों के अलावा 100 और 50 रुपये की करेंसी भी मिली है। पुलिस ने युवा नेता के पास मिले नोट जब्त कर लिए हैं। जबकि पार्टी की तरफ से बयान जारी किया गया है कि जेवीआर अरुण को पार्टी से निकाला जा चुका है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी के फैसले का जोरदार ढंग से तमिलनाडु और कर्नाटका में प्रचार-प्रसार करने वाले बीजेपी यूथ विंग के नेता जेवीआर अरुण को नोटंों से भरे बैग के साथ गिरफ्तार किया गया है। वह सरकार की नोटबंदी के समर्थन में अक्सर बयान देते थे कि मैं नोटबंदी के समर्थन में आम जनता की तरह लाइन में भी लगने को तैयार हूं। लेकिन आज पुलिस ने उन्हें 20.77 लाख रुपये के साथ गिरफ्तार कर लिया। उनके पास मिले नोटों में 2000 रुपये के नए नोट, 100 और 50 रुपये के पुराने नोट शामिल हैं। जिसे देखकर ऐसा लग रहा है कि उन्होंने किसी बैंक की मिलीभगत से अपने कालेधन को सफेद किया है। इस संबंध में जब पुलिस ने धन के स्रोत के बारे में पूछा तो वह नहीं बता पाए। इस वजह से बीजेपी में हंगामा मच गया है। पार्टी की किरकिरी होते देख तमिलनाडु बीजेपी की प्रदेश अध्यक्ष तमिल साईं सौन्दाराजन ने बयान जारी किया है कि जेवीआर अरुण को पार्टी से पहले ही निकाल दिया गया है। वहीं जेवीआर के मामले को लेकर विपक्ष ने बीजेपी को घेरना शुरू कर दिया है।

Pin It