बलवंत सिंह रामूवालिया बने रहेंगे कारागार मंत्री

  • गवर्नर ने एमएलसी के लिए तीन लोगों के नाम पर लगाई मुहर

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी सरकार के कारागार मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया मंत्री पद पर बने रहेंगे। कल राज्यपाल राम नाईक ने रामूवालिया सहित तीन अन्य लोगों को एमएलसी मनोनयन के लिए सरकार की तरफ से शाम को भेजी गई सूची पर सहमति दे दी। वहीं, दोबारा राजपाल कश्यप को एमएलसी बनाने के लिए भेजे गए नाम पर राजभवन ने यूपी के सीएम अखिलेश यादव से कुछ जानकारी मांगी है।
कल शाम को सीएम अखिलेश यादव की तरफ से चार लोगों के नाम एमएलसी बनाने के लिए राजभवन भेजे गए थे। पार्टी की तरफ से भेजी गई लिस्ट में बलवंत सिंह रामूवालिया के अलावा जहीर हसन उर्फ वसीम बरेलवी और मधुकर जेटली व राजपाल कश्यप के नाम शामिल थे। भेजी गई लिस्ट के परीक्षण के बाद राज्यपाल रामनाईक ने बलवंत सिंह रामूवालिया, जहीर हसन उर्फ वसीम बरेलवी और मधुकर जेटली के नाम पर मंजूरी दे दी है।
मालूम हो कि 25 मई 2015 को रिक्त हुई एमएलसी की नौ सीटों पर मनोनयन के लिए सरकार ने जो सूची भेजी थी उसमें राजपाल कश्यप का नाम भी शामिल था। सूची में राजपाल कश्यप के नाम को लेकर कुछ शिकायतें राजभवन को प्राप्त हुई थीं, जिसके बाद राजभवन ने राजपाल के नाम पर मुहर नहीं लगाई थी। इस बार फिर राजपाल कश्यप का नाम भेजा गया था, जिस पर राजभवन ने सरकार से कुछ बिन्दुओं पर जवाब मांगा है।

Pin It