प्रथम उत्तर प्रदेश एनआरआई दिवस के लिये समितियां गठित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की निर्देश से दिनांक 4 व 5 जनवरी, 2016 को ऐतिहासिक ताज नगरी-आगरा में आयोजित किये जा रहे प्रथम ‘उत्तर प्रदेश एनआरआई दिवस’ को सुगमता एवं सफलतापूर्वक सम्पन्न कराने के लिए विभिन्न समितियों का गठन कर लिया गया है। इस सम्बन्ध में प्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन द्वारा उच्चस्तरीय अनुश्रवण समिति सहित आयोजन समिति, प्रचार-प्रसार समिति, आमंत्रण समिति, प्रदर्शनी आयोजन समिति, स्थलीय भ्रमण/स्थानीय यात्रा आयोजन समिति के गठन के आदेश जारी कर दिये गये हैं।
यह जानकारी राज्य सरकार के प्रवक्ता ने एक विज्ञप्ति के माध्यम से देते हुए बताया कि प्रदेश के अप्रवासी भारतीयों एवं उनकी मातृभूमि के बीच सम्बन्धों को और प्रगाढ़ करने और प्रदेश के चहुमुंखी विकास में उनकी सहभागिता को बढ़ाने के उद्देश्य से यह आयोजन किया जा रहा है। प्रथम ‘उत्तर प्रदेश एनआरआई दिवस’ के सुगम एवं सफल आयोजन के लिए एक उच्चस्तरीय अनुश्रवण समिति का गठन किया गया है। इस समिति के अध्यक्ष मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन हैं। प्रमुख सचिव सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, सचिव मुख्यमंत्री, आयुक्त आगरा मण्डल सहित इस समिति में कुल 16 सदस्य हैं। आयोजन समिति का गठन एनआरआई विभाग के प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में किया गया है। प्रथम ‘उत्तर प्रदेश एनआरआई दिवस’ के सुगम एवं सफल आयोजन का दायित्व इसी समिति का है। एनआरआई विभाग के विशेष सचिव समिति के सदस्य सचिव हैं। संस्कृत विभाग के सचिव, महानिदेशक, पर्यटन, निदेशक सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग सहित इस समिति में कुल 11 सदस्य हैं। प्रचार-प्रसार समिति का गठन प्रमुख सचिव, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की अध्यक्षता में किया गया है।
निदेशक सूचना एवं जनसम्पर्क इस समिति के सदस्य सचिव हैं।

सचिव संस्कृति विभाग, विशेष सचिव एनआरआई विभाग, जिलाधिकारी आगरा, महानिदेशक पर्यटन सहित कुल 10 सदस्य इस समिति में हैं।

प्रथम ‘उत्तर प्रदेश एनआरआई दिवस’ के प्रचार-प्रसार की पूरी जि़म्मेदारी इस समिति की होगी। प्रमुख सचिव एनआरआई विभाग की अध्यक्षता में आमंत्रण समिति का गठन किया गया है। विशेष सचिव एनआरआई विभाग समिति के सदस्य सचिव हैं। सचिव संस्कृति विभाग, निदेशक सूचना, महानिदेशक पर्यटन, जिलाधिकारी आगरा सहित कुल 11 सदस्य इस समिति में हैं। प्रथम ‘उत्तर प्रदेश एन0आर0आई दिवस’ के आयोजन में आगमन हेतु अतिविशिष्ट अतिथियों का चयन एवं निमंत्रण का दायित्व आयोजन समिति का होगा।

Pin It