पुरानी रंजिश में गला रेतकर हत्या

  • दो हत्यारोपी गिरफ्तारतीन फरार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के बीकेटी क्षेत्र में एक घर के मुखिया शरीफ की गला रेतकर हत्या कर दी गई। उसका शव केले के खेत के बगल में मिला। सूचना पर क्षेत्राधिकारी बीकेटी ममता कुरील सहित भारी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं, पुलिस ने मामला दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबकि तीन अन्य आरोपी फरार बताये जा रहे है।
बीकेटी के बरगदी मगद गांव में शरीफ (35) अपनी पत्नी साबिया और चार बच्चों के साथ रहता है। दीपावली की रात शरीफ घर से किसी काम से निकला था। लेकिन काफी देर तक वापस नहीं आया। इस पर पत्नी साबिया ने उसकी तलाश शुरू की। रात लगभग 10.30 आरोपी मन्नू चिल्लाता हुआ आया कि शरीफ की हत्या कर दी गई है। सीओ बीकेटी प्रभारी ने बताया कि मृतक की पत्नी ने भौली गांव निवासी दुर्गेश, नसीम, मुन्नू, जुम्मन और पप्पू पर नामजद मुकदमा दर्ज कराया है जिसमे नसीम और दुर्गेश को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि अन्य तीन फरार हैं। पुलिस ने मौके से हत्या में प्रयोग किया गया चापड़ और एक तमंचा बरामद किया है। पुलिस ने अनुसार, मृतक की गर्दन रेतने के साथ उस पर चापड़ से कई बार भी किये गए है। जिससे मृतक का दायां कान भी कट गया है। वारदात को पुरानी रंजिश के कारण अंजाम दिया गया है। पूर्व में शरीफ भी भौली गांव में रहता था। भौली में ही दुर्गेश भी अपने मामा लालता के घर में रहता था। वर्ष 2009 में मृतक शरीफ ने दुर्गेश के मामा लालता सिंह की जुआ खेलने के विवाद में हत्या कर दी थी, जिसके बाद उसे जेल भेज दिया गया था। जेल से छूटने के बाद शरीफ ने भौली गांव छोड़ दिया था और बरगदी में रहने लगा था। परिजनों ने अनुसार इससे पहले भी शरीफ पर हमला हुआ था, लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया।

Pin It