पीएम के सामने सीएम ने उठाया नोटबंदी का मुद्दा

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
  • सहकारी बैंकों में पर्याप्त धनराशि मुहैया कराने का किया आग्रह

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureनई दिल्ली। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संसद भवन में मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने नोटबंदी को लेकर किसानों और आम जतना को हो रही परेशानी का मुद्दा प्रधानमंत्री के सामने उठाया। साथ ही सहकारी बैंकों को अधिक धन मुहैया कराने का आग्रह भी किया।
बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री को लोगों को हो रही कठिनाईयों की जानकारी है। बुआई का मौसम है, ऐसे में नकदी के संकट से किसान परेशान हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में काफी संख्या में सहकारी बैंक हैं, उन्हें कब तक पर्याप्त पैसा मुहैया कराया जाएगा? अखिलेश ने बताया कि उन्होंने प्रधानमंत्री से सहकारी बैंकों को पर्याप्त धन मुहैया कराने की समय सीमा निर्धारित करने का भी आग्रह किया। गौरतलब है कि इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने नोटबंदी से लोगों को हो रही परेशानी को लेकर पीएम को पत्र लिखा था। इसके बाद ही दोनों के बीच यह मुलाकात हुई। हालांकि बातचीत का कोई एजेंडा तय नहीं था।

माया के बयान पर अखिलेश का पलटवार, बोले बुआ दूसरी बीबीसी

बसपा प्रमुख ने मुख्यमंत्री को कहा था सपा मुखिया का बबुआ

लखनऊ। बसपा प्रमुख मायावती के बयान पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पलटवार करते हुए कहा कि मीडिया की कृपा से बुआ आजकल काफी टीवी चैनलों पर आ रही हैं। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि मैं आजकल उनका नाम नहीं लेता हूं, वे पत्थर वाली बुआ हैं। बुआ दूसरी बीबीसी हो गई हैं यानी बुआ ब्रॉडकास्ट कॉर्पोरेशन। उनके विकास की क्या बात करें। लखनऊ के हाथी आज तक जस के तस खड़े हैं, न बैठे हैं और न हिले हैं। गौरतलब है कि इसके पहले बसपा प्रमुख मायावती ने गुरुवार को राज्यसभा में अखिलेश यादव पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि वे सत्ता से बाहर जा रहे हैं, इसलिए सपा मुखिया का बबुआ मारा-मारा घूम रहा है। पहले मुखिया घूम रहा था। उन्होंने कहा कि रजत जयंती पर सपा प्रमुख सब पार्टी के दरवाजे पर गठबंधन के लिए गए। लेकिन जब सबने देखा कि परिवार आपस में लड़ रहा है तो सब भाग गए। किसी ने नहीं कहा हम गठबंधन करेंगे।

Pin It