नोटबंदी से देश में आर्थिक आपातकाल की स्थिति: दीपक मिश्र

केंद्र सरकार फैला रही अराजकता: कांग्रेस
captureलखनऊ। प्रदेश मुख्यालय पर कंाग्रेस कमेटी विधि एवं मानवाधिकार विभाग से संबंधित अधिवक्ताओं की बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा कि अधिवक्ताओं की जो भी मूलभूत समस्याएं हैं उसको पार्टी योजना बनाकर दूर करने का प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि अधिवक्ता समाज का एक सजग प्रहरी है। उनकी जो भी समस्याएं हैं उसको पार्टी दूर करेगी तथा अधिवक्ताओं को पार्टी टिकट देने में भी प्राथमिकता देगी। कोषाध्यक्ष विपुल माहेश्वरी ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि नोट पर आरबीआई के गवर्नर यह कहते हैं कि वह धारक को मुद्रित संख्या की रकम को अदा करेगा। यह काम केवल आरबीआई गवर्नर कर सकता है जो एक संवैधानिक पद पर हैं। देश का प्रधानमंत्री यह कह दे कि आज रात्रि में 12 बजे के बाद यह रद्दी का टुकड़ा हो जायेगा, यह एक तानाशाही निर्णय है तथा आम जनता को परेशान करने के लिए उठाया गया कदम है। सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा कि वर्तमान सरकार अराजकता फैला रही है उसको दूर करने के लिए अधिवक्ताओं को आगे आना होगा। न्यायालयों ने भी इस अराजकता पर करारा प्रहार किया है। बैठक में प्रमुख रूप से अधिवक्तागण राजेन्द्र जायसवाल, शीला मिश्रा, रश्मि गुप्ता, वेद प्रकाश त्रिपाठी, प्रदीप सिंह, जयपाल सिंह, मो रईस, जलील अहमद, हेमन्त मिश्रा, विजय प्रकाश लाल, ब्रजेश नन्दन पाण्डेय, ओम प्रकाश मिश्रा, प्रशान्त गोयल, राकेश मिश्रा, हंसमुखी आदि मौजूद रहे।

लखनऊ। नोटबन्दी के खिलाफ समाजवादी चिन्तन/बौद्धिक सभा के अध्यक्ष, सपा सचिव व प्रवक्ता दीपक मिश्र की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने सत्याग्रह, उपवास व भिक्षाटन कर विरोध दर्ज कराया। अभियान के अंत में सभा का आयोजन किया गया। इसमें नोटबंदी और मोदी सरकार की नीतियों के विरोध में सतत सत्याग्रह चलाने की शपथ ली गई। भिक्षाटन-अभियान की शुरुआत हजरतगंज स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा से हुई। सत्याग्रहियों ने यूनीवर्सल, साहू मार्केट, जनपथ, दारुलशफा व कैपिटल क्षेत्र का भ्रमण किया और व्यापारियों से भीख मांगी। बाद में भिक्षाटन में मिली धनराशि एक महिला भिखारी को दे दी गई। इस दौरान समर्थकों ने ‘भारत माता की जय’ और ‘मोदी हटाओ-देश बचाओ’ के नारे लगाए। जीपीओ पार्क स्थित शहीद स्तम्भ पर सभा का आयोजन किया गया। सभा को संबोधित करते हुए दीपक मिश्र ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने चलन में 85 फीसदी का योगदान रखने वाली 500 व 1000 की नोटों पर अचानक प्रतिबन्ध लगाकर देश को आर्थिक आपातकाल व अव्यवस्था की स्थिति पर खड़ा कर दिया है। अकेले उत्तर प्रदेश में पचास से अधिक लोगों की मौत हो गई है। मोदी ने उसी तरह से काम किया है जैसा 14वीं शताब्दी में मुहम्मद बिन तुगलक और मंगोल (पर्सिया) शासक गेखाटू ने किया था। उन्होंने कहा कि ईमानदार और गरीब व्यक्ति अपने जरूरी काम छोडक़र अपनी ही मेहनत की कमाई लेने घंटों लाइन में लगने के लिए मजबूर हैं। मोदी सरकार आर्थिक व विदेश मामलों में विफल रही है। भारत के ऊपर कुल विदेशी कर्ज मार्च 2016 में 485 अरब डालर की सीमा पार कर चुका था। घरेलू ऋण सकल घरेलू उत्पादन का 69 प्रतिशत तक पहुंच चुका है। देश विकासशील देशों के क्रम में भी पिछड़ता जा रहा है। मानव विकास सूचकांक में भारत 129 देशों से बाद है। प्रतिव्यक्ति आय के दृष्टिकोण से भारत से 139 देश आगे हैं। उन्होंने कहा कि चीन से गत ढाई वर्षों में मोदी ढाई इंच जमीन भी वापस नहीं ला सके। वह अभी भी हमारी 46 हजार 735 वर्ग किमी पर कब्जा किए है। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय सरकार की नीति के खिलाफ मैं सतत सत्याग्रह, उपवास एवं भिक्षाटन की घोषणा करता हूं। लुआक्टा के अध्यक्ष डा. मनोज पाण्डेय ने कहा कि नोटबंदी से शिक्षकों की स्थिति काफी खराब हुई है। सभा को यूपी नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी, लोहिया वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष विजय यादव, देवी प्रसाद यादव, गिरीश द्विवेदी, छात्र नेता प्रभात मिश्रा, सौरभ पाण्डेय, जावेद जाफरी, डा. संतोष यादव, महासचिव आशुतोष त्रिपाठी, कु0 शन्नो, ईश्वर दयाल बघेल समेत कई वक्ताओं ने विचार रखे। सभा के अंत में कार्यक्रम संयोजक अभय यादव ने धन्यवाद दिया। सभा के अन्त में मोदी सरकार की तानाशाही के खिलाफ सतत संघर्ष व सत्याग्रह का शपथ लिया गया।

नवजात बच्ची को सडक़ पर फेंका
लखनऊ। राजधानी के दो अलग-अलग थाना क्षेत्रों में बीते शुक्रवार को मिले नवजात के शव वाले प्रकरण में पुलिस अभी किसी नतीजे पर पहुंची भी नहीं थी कि शनिवार शाम फिर से एक नवजात बच्ची गोमतीनगर के बैराज पुल पर कपड़े में लपटी मिली। राहगीरों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी । सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने तुरंत अपनी गाड़ी में लादकर लोहिया अस्पताल पहुंचाया, जहां उसका इलाज चल रहा है। गोमती नगर थाना क्षेत्र में बीते शनिवार की रात मानवता को शर्मसार करने वाली घटना प्रकाश में आयी है। जहां अज्ञात लोगों द्वारा एक नवजात को सडक़ पर फेंक कर फरार हो गये। जानकारी पर एसओ गोमतीनगर पहुंचे तो देखा की बच्ची जीवित थी और उसकी सांसे चल रही थी। एसओ ने बच्ची को अपनी गाड़ी में लादकर लोहिया अस्पताल पहुंचाया, जहां उसका इलाज चल रहा है। प्रभारी गोमतीनगर ने बताया कि बच्ची के इलाज के बाद उसे बाल कल्याण संगठन को सौंप दिया जाएगा और साथ ही मामले की पड़ताल कर बच्ची को फेंकने वालों की तलाश भी की जा रही है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
मवेशियों को मारने से गांव में आक्रोश
लखनऊ। माल इलाके के नरायनपुर गांव में बीते शनिवार की रात किसान के तीन मवेशियों को अज्ञात चोरों ने चुरा लिया और और उन्हें मार दिया। सुबह होने पर जब किसान ने दरवाजे पर मवेशी नहीं देखे तो तलाश शुरू की। गांव से लगभग डेढ़ से दो किलोमीटर की दूरी पर मवेशियों के अवशेष मिले। पीडि़त ने अज्ञात चोरों के विरूद्ध लिखित शिकायत की। वहीं पुलिस मामले की जांच कर रही है। माल थाना क्षेत्र के नरायनपुर गांव निवासी गयादीन बीते शनिवार की रात घर में सो रहा था जबकि गयादीन के तीन मवेशी घर के बाहर बंधे हुये थे। रात में अज्ञात चोरों ने तीनों मवेशियों को चोरी कर गांव से डेढ़ से दो किलोमीटर दूर ले जाकर दनौर गांव निवासी महावीर की बाग में मारकर फेंक दिया। सुबह होने पर जब गयादीन ने अपने मवेशियों को नहीं पाया तो तलाश शुरू की। महावीर के बाग में मवेशियों के अवशेष पड़े मिले। जिसकी जानकारी गयादीन ने पुलिस व ग्रामीणों को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने गयादीन से अज्ञात चोरों के विरूद्ध लिखित तहरीर लेकर बिना मवेशियों के अवशेष का पोस्टमार्टम कराये घटना स्थल को टै्रक्टर से जुतवा दिया। ग्रामीणों में पुलिस का यह रवैया देखकर काफी नाराजगी है। ग्रमीणों ने पुलिस की इस भूमिका पर आक्रोश जताया है। पुलिस ने तहरीर लेकर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

Pin It